पॉलिटिकल कैफे हल्लाबोल

ब्रेकिंग : प्रदेश के नगर निगम में लागू होगा “डिप्टी मेयर” का फार्मूला!… मंत्री TS सिंहदेव ने की डिप्टी मेयर बनाने की मांग, मेयर के नहीं रहने पर डिप्टी मेयर संभालेंगे कामकाज

प्रदेश के सभी नगर निगम में कांग्रेस का परचम लहराकर कांग्रेस महापौर बनाने में सफल कांग्रेस अब अंतुष्टों को संतुष्ट करने डिप्टी मेयर का फार्मूला ला सकती है, सूबे के स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी नगर निगम में डिप्टी मेयर बनाने की मांग की है |

– विज्ञापन –

मीडिया से चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि डिप्टी मेयर बनने से मेयर की अनुपस्थिति में जनता का कार्य डिप्टी मेयर के माध्यम से हो सकेगा | इसके लिए मैं प्रदेश सरकार को प्रस्ताव भी भेजूंगा | इससे नगर निगम के कार्यों की मॉनिटरिंग में भी सहायता मिलेगी |

- विज्ञापन-

टीएस ने मीडिया से कहा कि एक्ट में यह प्रावधान है, यदि मेयर कहीं जाते हैं तो डिप्टीमेयर को प्रभार देकर जा सकते हैं, अभी तक इसमें स्थिति अस्पष्ट होने की वजह से अब तक यह लागू नहीं हो सका था, लेकिन यह एक स्वस्थ परंपरा रहेगा, मुझे याद है कि जब हम लोग जनपद में होते थे, तो वहां उपाध्यक्ष भी होते थे, यदि अध्यक्ष कही जाते थे तो वे डिप्टीमेयर को प्रभार देकर जाते थे, डिप्टीमेयर पूरा काम संभालते थे | प्रदेश में शासन चाहेगी, इस पर विचार करेगी और यह स्वस्थ परंपरा शुरू की जा सकती है |

छत्तीसगढ़ के 10 नगर निगमों, 38 नगरपालिका परिषदों और 103 नगर पंचायतों में पिछले महीने 21 दिसंबर को मतदान हुआ था। सत्ताधारी दल कांग्रेस राज्य के सभी नगर निगमों में अपना कब्जा जमाने में कामयाब रही, हालांकि इसमें निर्दलीय पार्षदों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक, यहां 151 नगर निकायों के 2834 वार्डों के लिए मतदान कराया गया था, जिसमें से 1283 वार्ड में कांग्रेस को तथा 1131 वार्ड में भाजपा को सफलता मिली। वहीं 420 वार्ड में अन्य दलों और निर्दलीय प्रत्याशियों को जीत हासिल हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *