द बाबूस न्यूज़बाबूस ऑफ़ छत्तीसगढ़

Breaking : बलौदा बाजार कलेक्टर की बड़ी कार्रवाई….दो CMO पर गिरी निलंबन की गाज, एक CMO को थमाया नोटिस

बलौदा बाजार कलेक्टर जेपी पाठक की एक कार्रवाई ने प्रशासनिक हलके में हलचल मचा दी है, कलेक्टर ने राजस्व पंचायत एवं नगरीय निकाय की समीक्षा बैठक में बही पहुँचने पर बिलाईगढ़ एवं टुण्ड्रा नगर पंचायत मुख्य नगर पालिका अधिकारी अनियमित रूप से अनुपस्थित को संज्ञान में लेते हुए उसे निलंबित कर दिया, इसके साथ ही कलेक्टर पाठक ने लवन नगर पंचायत मुख्य नगर पालिका अधिकारी को बिना सुचना के उपस्थित होने पर नोटिस देकर जवाब मांगा |

बलौदा बाजार कलेक्टर जेपी पाठक ने आज राजस्व पंचायत एवं नगरीय निकाय की समीक्षा बैठक ली,  नगरीय निकाय के अंतर्गत निर्माण कार्यो की गतिविधियों के लिए डूडा के मानीटरिंग के लिए डिप्टी कलेक्टर  अरविन्द पाण्डेय को जिम्मेदारी सौंपी गई। नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों की आगामी दो दिवस के अंदर समीक्षा बैठक आयोजित कर विस्तारपूर्वक निर्माण कार्यो की समीक्षा कर कार्यो का प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए । कलेक्टर  जेपी पाठक ने नगरीय निकाय के अंतर्गत स्वीकृत कार्य, पूर्ण कार्य एवं अन्य कार्यो की भौतिक सत्यापन की जिम्मेदारी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सौंपी गई है। उन्होंने राजस्व की समीक्षा के दौरान फर्जी जाति प्रमाण-पत्र पर एफआईआर की कार्यवाही करने एवं विभिन्न शिकायतों के जांच प्रकरणों को तत्काल निराकरण कर प्रतिवेदन अपर कलेक्टर को भेजने निर्देश दिए।

मोबाइल योजना के तहत फार्म जल्दी उपलब्ध कराने के निर्देश 

कलेक्टर  जे.पी.पाठक ने संचार क्रांति योजना की समीक्षा के दौरान जनपद पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को 325 नए गांवों के लिए फार्म शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। हितग्राहियों द्वारा आधार कार्ड, जाब कार्ड, स्मार्ट कार्ड के आधार पर ग्राम पंचायत स्तर पर पंजीयन कराने के लिए निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि स्काई योजनांतर्गत जिले में एक लाख सताईस हजार तीन सौ छप्पन का लक्ष्य है जिसमें ग्रामीण अंचल में एक लाख बारह हजार आठ सौ चौवन शहरी चौदह हजार आठ सौ दो का लक्ष्य रखा गया है। अब तक जिले में एक लाख तेईस हजार उनयासी वितरित किया है। जिसमें से ग्रामीण क्षेत्र में एक लाख आठ हजार छह सौ नवासी शहरी क्षेत्र में चौदह हजार नौ सौ नब्बे वितरित किए जा चुके है।कलेक्टर श्री जे.पी.पाठक ने बताया कि स्काई योजना के तहत हितग्राही द्वारा नामिनेशन परिवर्तन करने के पूर्व संबंधित हितग्राहियों के अभिलेखों का ग्राम पंचायत सचिव से सत्यापन अनिवार्य रूप से कराएंगे। स्काई योजना में किसी तरह की गैर जिम्मेदारी कार्य पाया जाने पर संबंधित कर्मचारी के विरूद्ध कार्रवाई की चेतावनी दी गई है |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button