देश - विदेश
Trending

महिला को बाल खींचकर गिराया, बेरहमी से पीटा, छत्तीसगढ़ पुलिस का VIRAL VIDEO….. BJP नेता ने ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ का नारा याद दिलाया

छत्तीसगढ़ पुलिस का एक वीडियो वायरल रहा है. पुलिस वाले कुछ महिलाओं के साथ मारपीट कर रहे हैं. एक महिला का बाल खींचा जाता है. महिला गिर जाती है, उसके बाद भी पुलिस वाले उसे लात मारते हैं. वीडियो छत्तीसगढ़ के सूरजपुर का है. जहां पुलिस की टीम कथित रूप से अतिक्रमण हटाने गई थी. कुछ महिलाओं ने पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया था. इसके बाद पुलिस वाले मारपीट करने लगे.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सूरजपुर के तिलसिवा गांव में कुछ लोगों ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर रखा था. इसी अतिक्रमण को हटाने पुलिस और राजस्व अधिकारी गांव में पहुंचे थे. कार्रवाई शुरू होते ही गांव वालों ने विरोध करना शुरू कर दिया. इनमें ज्यादातर महिलाएं थीं. जब पुलिस की सख्ती के बाद महिलाओं ने विरोध नहीं रोका तो पुलिस वाले उन्हें गाड़ी में बिठाने लगे.

इसके बाद, पुलिस वाले महिलाओं को जबरदस्ती पुलिस जीप की तरफ खींचते हैं. जब महिलाएं विरोध करती हैं तो उन्हें धक्का दिया जाता है. इसी दौरान एक पुलिसकर्मी जमीन पर गिर पड़ी महिला को पैर से मारता है. जब वो महिला उठती है तो उसका बाल खींचा जाता है. महिला का बाल खींचने वाला पुलिसकर्मी हेड कॉन्स्टेबल है.

वहीं, इस घटना पर सूरजपुर के एसपी रामकृष्ण साहू ने कहा कि उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है. हालांकि ASP मधुलिका ने दावा किया कि स्थानीय लोगों ने राजस्व अधिकारियों पर हमला किया था. इसकी जांच की जा रही है.

BJP नेताओं ने इस वीडियो को शेयर सरकार की आलोचना की है. छत्तीसगढ़ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने ट्विटर पर सवाल उठाते हुए लिखा, 

“भूपेश बघेल जी! अगर ये पुलिस है तो गुंडे कैसे होते होंगे? “राजकुमारी के लिए गुलाब के फूल, और छत्तीसगढ़ की बेटियों को लात घूंसे?” “गढ़ा गिस नवा छत्तीसगढ़?” ये कांग्रेस सरकार ने मातृशक्ति पर नहीं, छत्तीसगढ़ महतारी की अस्मिता पर चोट पहुंचाई है.”

बीजेपी विधायक ने नितिन नवीन ने ट्वीट किया, 

“लड़की हूं लड़ सकती हूं’ का नारा देने वाली कांग्रेस पार्टी के राज में छत्तीसगढ़ की बहन बेटियों के साथ कैसा दुर्व्यहार किया जा रहा है, उसे आप इन तस्वीरों में साफ देख सकते है, कैसे उन्हें बाल पकड़ कर घसीटा जा रहा है और लातों से मारा जा रहा है. भूपेश जी, समय आने दीजिए, छत्तीसगढ़ महतारी- बहन आपके इस तानाशाही और अत्याचार का माकूल जवाब जरूर देंगी. न कुछ भूले हैं, न भूलेंगे.”

महिलाओं के साथ मारपीट करने वाले पुलिस वालों के खिलाफ अभी कोई कार्रवाई नहीं हुई है. वीडियो को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार की तरफ से भी कोई जवाब नहीं आया है.

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close