देश - विदेश

ट्रेन हादसा: बिग अपडेट : अब तक 233 लोगों की मौत, 900 से अधिक घायल…. राहत और बचाव कार्य जारी

ओडिशा के बालासोर में शुक्रवार शाम को हुए ट्रेन एक्सीडेंट में मरने वालों की संख्या बढ़कर 233 हो गई है और करीब 900 यात्री घायल हुए हैं. ओडिशा के मुख्य सचिव प्रदीप जेना ने इसकी पुष्टि करते हुए एक ट्वीट में कहा कि ट्रेन दुर्घटना में मरने वालों की संख्या बढ़ रही है. कल हुए इस भयानक हादसे में ओडिशा के बालासोर में शालीमार-चेन्नई कोरोमंडल एक्सप्रेस के 10 से 12 डिब्बों के पटरी से उतर गए और डिब्बे विपरीत ट्रैक पर गिर गए. दूसरी पटरी पर यशवंतपुर से हावड़ा जा रही एक अन्य ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद ट्रैक पर गिरे शालीमार-चेन्नई कोरोमंडल एक्सप्रेस के कोचों से टकराकर डिरेल हो गई. इस ट्रेन के 3 से 4 डिब्बे पटरी से उतर गए. बालासोर में दो यात्री ट्रेनों और एक मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद बचावकर्मी फंसे लोगों को बचाने में लगे हैं.

इस बीच रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव बालासोर पहुंच गए हैं. उन्होंने कहा कि इस ट्रेन हादसा की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं. यह जानना जरूरी है कि इतने बड़े हादसे की असल वजह क्या है. दुर्घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और रेल मंत्रालय ने घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद बचाव अभियान शुरू कर दिया. राहत एवं बचाव के लिए NDRF, ODRAF और दमकल विभाग की टीमें मौके पर मौजूद हैं. एयरफोर्स की मदद भी ली जा रही है. रेल मंत्री ने कहा कि यह जानना जरूरी है कि इतने बड़े हादसे की असल वजह क्या है.

रेल मंत्रालय ने इस हादसे के शिकार हुए लोगों के लिए अनुग्रह राशि की घोषणा की है. मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को 2 लाख रुपये और मामूली रूप से घायल लोगों को 50,000 रुपये की मदद दी जाएगी. वहीं बालासोर में हुई दुखद रेल दुर्घटना के बाद ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक दिन के राजकीय शोक का आदेश दिया है. ओडिशा के सूचना और जनसंपर्क विभाग ने कहा कि पूरे राज्य में 3 जून को कोई उत्सव नहीं मनाया जाएगा.

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close