लाइफस्टाइल

स्वदेशी मेला में उमड़ रही भीड़: महेंदी स्पर्धा में स्वदेशी अपनाने का संदेश….गीतों की प्रस्तुति ने मोहा मन

बिलासपुर। साईंस कॉलेज मैदान सरकंडा में चल रहे स्वदेशी मेले में पांचवें दिन मंगलवार को मेहंदी प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसमें 60 से अधिक महिलाओं, युवतियों ने भाग लिया एवं अपनी कला प्रतिभा दिखाते हुए दूल्हन, मारवाड़ी, भरी हुई मेहंदी लगाई। निर्णायकों ने मेहंदी की बारीकी, डिजाइन को देखकर अपना निर्णय दिया। मेहंदी प्रतियोगिता दो वर्गो में आयोजित की गई। पहले वर्ग में 10 से 17 एवं दूसरे वर्ग में 17 से अधिक उम्र की युवतियों, महिलाओं ने भाग लिया। दोनोंं वर्ग के प्रतिभागियों को डेढ़-डेढ़ घंटे का समय दिया गया। प्रतिभागी दामिनी कश्यप ने इण्डियन थीम में मेहंदी लगाकर बीच में राम-सीता बनाई। दामिनी ने बताया कि आज वह मेहंदी को एक व्यवसाय के रूप में अपना कर निरंतर स्वालंबन की ओर बढ़ रही है। 16 साल की श्रुति यादव ने ब्राइडल मेहंदी लगाई। उन्होंने बताया कि मम्मी को लगाते-लगाते उनका हाथ बैठ गया और वह आज शादी सहित अन्य अवसरों में जाकर मेहंदी लगाने में भी पारंगत हो गई है। कॉलेज की छात्रा दामिनी तिवारी सिरगिट्टी को ड्राइंग में रूचि है। इसके चलते उसे मेहंदी सीखने में कोई परेशानी नहीं हुई और खुद से सीखकर अब क्लासेस चला रही है। अशोक नगर की गरिमा नथानी ने मेहंदी में राम-सीता बनाई। विगत तीन साल से मेहंदी का काम कर रही गरिमा अब इसे व्यवसाय के रूप में अपना ली है। राजकिशोर नगर की किरण गुप्ता ने विदेशी छोड़ो, स्वदेशी अपनाओं, हाय हलाे छोड़कर नमस्कार करने स्लोगन के साथ मेहंदी रचाई। रायपुर से आए गणेश नामक युवक की मेहंदी कला में एकदम बारीकी दिखी। निर्णायक की भूमिका में रूही कश्यप, एस राजेश्वरी, लल्ली चंद्रा थीं। इस मौके पर किरण मेहता, शोभा कश्यप, मीना मानिकपुरी, रूपाली, कमलनी गुप्ता, रीता बरसैया, मीनाक्षी बोगर्डे, रूक्खमणि राजपूत की उपस्थित रही।

बच्चों को किया प्रोत्साहित

वी क्लब गोल्ड बिलासपुर की ओर से मेहंदी के विजेता प्रतिभागियों को प्रथम, द्वितीय, तृतीय पुरस्कार दिया गया। यह पुरस्कार विजेताओं की घोषणा के बाद दी जाएगी। क्लब की अध्यक्ष रीता बरसैया ने बताया कि प्रतिभागियों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से यह पुरस्कार दिया गया है। क्लब की टीम में सचिव रजनी खनूजा जगदीश सलूजा, नीरज, अल्का अग्रवाल, शुभा सिंह, निविता जालान भी शामिल रहीं।

गीतों की प्रस्तुति ने मोहा मन

रात्रि में एसपी संतोष सिंह के मुख्य आतिथ्य, देवाशीष आचार्य एसईसीएल की अध्यक्षता एवं आशीष जायसवाल चौकसे ग्रुप के विशेष आतिथ्य में वाइस ऑफ बिलासपुर गायन प्रतियोगिता सीनियर वर्ग आयोजित की गई। इसमें 145 गायक कलाकारों ने भाग लेकर एक से बढ़कर एक गीतों की प्रस्तुति दी। इसमें कु. वैष्णवी, कु. त्रिशा प्रसाद, राजेश कुमार, पलक कश्यप, रविन्द्र खरपाते, आशुतोष, चंद्र साहू शामिल रहे। कार्यक्रम में युगल शर्मा, तुषार पानसे, अभिजित मित्रा, अंकिता मेहता, सीबीएमडी के अरणव चौधरी, धीरज बाजपेई, उचित सूद, कमल छाबड़ा, सौम्या शुक्ला, मनीष दीक्षित, ममता दुबे, चानी ऐरी, तृप्ति चौहान, दीप्ति सुशांत द्विवेदी का सहयोग रहा। निर्णायक की भूमिका में प्रमोद रजक, गिरीश त्रिवेदी, तरुण शर्मा रहे। मंच संचालन अभिजीत मित्रा ने किया।

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close