छत्तीसगढ़ खबरेंलाइफस्टाइल

ट्रेडमिल में दौड़ते समय इस रेंज में रखे अपना हार्ट रेट, नहीं होगा हार्ट अटैक

 

ट्रेडमिल पर दौड़ने से हार्ट हेल्थ में काफी सुधार होता है, इसके साथ ही वजन कम करने में मदद भी मिलता है, ट्रेडमिल स्टेमिना बढ़ाने से लेकर कैलोरी बर्न करने के लिए एक अच्छा उपकरण माना जाता है,अगर ट्रेडमिल का सही तरह से दौड़े और सुरक्षा सावधानियों का सही तरह से पालन नहीं किया जाता है तो यह आपके लिए खतरनाक हो सकता हैं। हाल ही में एक जिम में ट्रेडमिल में दौड़ते हुए एक युवक की हार्ट अटैक से मौत हो गया था , इसलिए ट्रेडमिल में दौड़ने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है ।

पिछले कुछ दिनों से जिम में हार्ट अटैक से लोगो की मौत की खबर काफी सुनने को मिल रहा है , वही अभी हाल ही के कुछ दिनों में ट्रेडमिल करते हुए एक युवक की हार्ट अटैक से मौत हो गया था, अगर ट्रेडमिल में सही तरह से दौड़ा जाये तो हार्ट के लिए काफी फायदेमंद होता है , वही अगर बिना सावधानी के दौड़े तो हार्ट को काफी नुकसान पंहुचा सकता है ।

फिटनेस एक्सपर्ट के अनुसार जिनका उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ा हुआ होता है , मोटापा और मधुमेह जैसे कोई और बीमारी है तो ऐसे में तीव्र गति की एक्सरसाइज और ट्रेडमिल में दौड़ने से दिल का दौरा पड़ने के जोखिम को बढ़ जाता है ।

कई बार ऐसा देखा जाता है की लोग जिम ज्वाइन करने के बाद एक दम से तीव्र गति में दौड़ने लग जाते है, बता दें कि एक्सरसाइज के दौरान दिल का दौरा पड़ने के जोखिम को बढ़ाने वाले अन्य कारकों में एथेरोस्क्लेरोसिस शामिल है, जो धमनी की दीवारों में और उसके ऊपर वसा, कोलेस्ट्रॉल और अन्य पदार्थों का निर्माण है। नसों में ब्लॉकेज होने के कारण जो हार्ट तक ब्लड और ऑक्ससीजन पहुंचना चाहिए वो पहुंच नहीं पाता है, ब्लाककेज होने से हृदय की मांसपेशियों में रक्त के प्रवाह को बाधित कर सकती है, जिसके परिणामस्वरूप व्यायाम के दौरान दिल का दौरा पड़ सकता है।

ट्रेडमिल करते वक्त हार्ट रेट पर रखें नजर
अक्सर देखा जाता है जिम में ज्यादातर लोग बिना किसी ट्रेनर के सलाह से या अपने बॉडी की मेडिकल हिस्ट्री जाने बिना तेज गति से दौड़ना शुरू कर देते है , ट्रेडमिल पर दौड़ते समय कुछ बातों को ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है , ट्रेडमिल पर दौड़ते वक्त अपनी हार्ट रेट पर नजर रखें। हार्ट रेट, टारगेट हार्ट रेट से अधिक नहीं होना चाहिए। अपने अधिकतम हार्ट रेट को जानने के लिए अपनी उम्र को 220 से घटाकर मापें। टारगेट हार्ट रेट को मैक्सिम हार्ट रेट का 80 फीसदी से अधिक रखना घातक साबित हो सकता है। अधिकतम दर आपकी आयु पर आधारित है, जिसे 220 से घटाया गया है। इसलिए 50 वर्षीय व्यक्ति के लिए, अधिकतम हृदय गति 220 माइनस 50, या 170 धड़कन प्रति मिनट है। 50 प्रतिशत परिश्रम स्तर पर, आपका लक्ष्य उस अधिकतम का 50 प्रतिशत, या 85 धड़कन प्रति मिनट होगा।

 

 

 

 

Back to top button
close