राजनीति

विधानसभा ब्रेकिंग : शराबबंदी, बेरोजगारी भत्ता समेत कई मुद्दों पर जमकर हंगामा, विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव स्वीकार, चर्चा के लिए विधानसभा अध्यक्ष ने दिया इतना समय

आज छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र का दूसरा दिन था। सदन शुरू होते ही विपक्ष ने पक्ष को घेरा। विपक्ष ने सदन में शराबबंदी और बेरोजगारी भत्ता सहित कई मुद्दों पर हंगामा किया। इतना ही नहीं, हंगामे के बीच भाजपा के विधायकों को निलंबित कर दिया गया, कुछ देर बाद सभी का निलंबन समाप्त कर दिया गया। सरकार को घेरने विपक्ष ने अविश्वास प्रस्ताव लगाया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत ने प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए चर्चा के लिए दो दिन का समय निर्धारित किया है।

भाजपा ने 109 बिंदुओं का आरोप पत्र बनाया है, लेकिन विधायक दल की बैठक में 109 बिंदुओं का आरोप पत्र बनाया गया है। इसी पर कांग्रेस सरकार को घेरने की योजना बनाई गई है। इसमें शराब, कोयला परिवहन, डीएमएफ, मनरेगा, सीमेंट, आत्मानंद स्कूल और पीएससी घोटाले शामिल हैं।

मंत्री अमरजीत भगत ने इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 6 हजार 31 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बजट पेश किया। बजट पेश करने के बाद सदन ने विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। मंत्री अमरजीत भगत ने अब इस मामले में अपना बयान दिया है। मंत्री भगत ने कहा कि हम प्रत्येक प्रश्न का आंख से आंख मिलाकर उत्तर देंगे। जनता का आशीर्वाद हमारे साथ है, क्योंकि BJP भ्रष्टाचार के केंद्र में है।

Back to top button
close