देश - विदेश
Trending

ED छापा ब्रेकिंग : आबकारी विभाग के दफ्तर में छापा….आधी रात ED कार्यालय बुलाए गए शराब कारोबारी, घंटो होती रही पूछताछ….बाहर लग्जरी कारों का लगा रहा जमावड़ा

छत्तीसगढ़ में ED की कार्रवाई लगातार जारी है। देर रात आबकारी विभाग के दफ्तर में भी ED का छापा पड़ा। वहां भी टीम दस्तावेजों को खंगालती रही। शुक्रवार रात शहर के 7-8 बड़े शराब कारोबारी अपने खास लोगों के साथ ED दफ्तर पहुंचे थे। इन सभी लोगों से आधी रात तक पूछताछ होती रही। इसके बाद 1 -2 लोगों को घर जाने दिया। जबकि अन्य लोगों को ईडी ने दफ्तर में रोककर रखा है।

ED की टीम को प्रदेश के आबकारी विभाग और बड़े शराब कारोबारियों के बीच अवैध लेनदेन के गिरोह का इनपुट मिला है। जिसको लेकर लगातार जांच की जा रही है।

कार का एसी घंटों ऑन रहा भीतर बैठे कारोबारी के खास लोग चर्चा करते रहे।
कार का एसी घंटों ऑन रहा भीतर बैठे कारोबारी के खास लोग चर्चा करते रहे।

रेंज रोवर, स्कोडा, फॉर्च्यूनर बीएमडब्ल्यू जैसे ब्रांड की गाड़ियों का जमावड़ा दफ्तर के बाहर देर रात तक रहा। इन गाड़ियों में कारोबारियों के करीबी बैठे रहे। फोन पर काफी देर तक ये लोग वकीलों से बातचीत करते रहे। कारोबारियों के परिजन भी दफ्तर के बाहर पहुंचे और सभी काफी तनाव में नजर आए।

ED दफ्तर के बाहर पुलिस का भी पहरा था। कारोबारियों के सुरक्षाकर्मी भी मौजूद रहे हालांकि किसी को भी दफ्तर के भीतर जाने की इजाजत नहीं थी। पूछताछ के बाद अंदर बैठे कारोबारियों ने अपने घरों से खाना मंगवाया। ED के अफसर भी ऑनलाइन फूड ऑर्डर करने लगे। रात होते-होते एक और जांच टीम का दस्ता अचानक दफ्तर पहुंचा।

कारोबारियों के खास लोग फोन पर काफी देर तक वकीलों से बातचीत करते रहे।
कारोबारियों के खास लोग फोन पर काफी देर तक वकीलों से बातचीत करते रहे।

एक कारोबारी ने दैनिक भास्कर को बताया कि भीतर सभी शराब कारोबारियों को बैठाया गया था एक-एक कर अलग-अलग कमरों में इन कारोबारियों को ले जाया जा रहा था। सभी से प्रॉपर्टी की जानकारी मांगी जा रही थी हाल फिलहाल में हुए बड़े लेनदेन और बैंक अकाउंट की डिटेल के बारे में पूछा जा रहा था।

लगातार ED के अफसर सवाल कर रहे थे। खास बात यह रही कि इससे पहले जब भी ED दफ्तर में इस तरह से लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया गया तो प्रताड़ना की शिकायतें सामने आई । मगर इस बार देर रात कारोबारियों से पूछताछ के दौरान अफसरों ने उन्हें ज्यादा परेशान नहीं किया। घंटों चली पूछताछ के बीच कुछ देर रात खाने का ब्रेक लिया। इसके बाद फिर सभी से पूछताछ की गई।

कारोबारियों से पूछताछ के दौरान अफसरों ने उन्हें ज्यादा परेशान नहीं किया।

कारोबारियों से पूछताछ के दौरान अफसरों ने उन्हें ज्यादा परेशान नहीं किया।

सूत्रों के मुताबिक कुछ कारोबारियों से एक तय बयान में हस्ताक्षर करने को भी कहा गया। जिस पर पहले से ही ED के अधिकारियों ने कुछ तथ्य लिख रखे थे। बयानों पर हस्ताक्षर करने को लेकर ED अफसर और कारोबारियों के बीच बहस होती रही। अब खबर है कि कुछ कारोबारियों की जल्द ही ED गिरफ्तारी दिखा सकती है।

आधी रात में बुलाया गया

मंगलवार 28 मार्च को ED की टीम जमीन कारोबारी सुरेश बांदे, सीए प्रतीक जैन और कांग्रेस से जुड़े नेताओं के ठिकानों पर पहुंची थी। बुधवार को रायपुर में IAS अनिल टुटेजा, शराब कारोबारी बलदेव सिंह भाटिया, भिलाई के होटल संचालक विनोद सिंह, रायपुर के महापौर एजाज ढेबर, उनके भाई अनवर ढेबर, दुर्ग जिला मुख्यालय की बात करें तो नेहरू नगर निवासी एन उदय राव, शराब कारोबारी पप्पू बंसल खुर्सीपार, अतुल सिंह स्मृति नगर, संजीव फतेपुरिया नेहरू नगर, आबकारी अफसर एपी त्रिपाठी के ठिकानों पर जांच की गई। शुक्रवार की रात भी इन्हीं से संबंधित लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया गया।

पूछताछ के दौरान रायपुर ED दफ्तर की देखिए तस्वीरें

रात होते-होते एक और जांच टीम का दस्ता अचानक दफ्तर पहुंचा।
रात होते-होते एक और जांच टीम का दस्ता अचानक दफ्तर पहुंचा।
देर रात ED की टीम को भोजन के पैकेट ले जाते कर्मचारी।
देर रात ED की टीम को भोजन के पैकेट ले जाते कर्मचारी

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close