देश - विदेश

कांग्रेस का कैंपेन, डोमेन भाजपा के पास : कांग्रेस के ‘क्राउड फंडिंग कैंपेन’ DonateforDesh.org लिंक पर क्लिक करते ही खुल रहा BJP का डोनेशन पेज….जानिए क्या है वजह

कांग्रेस का ‘Donate for Desh’ क्राउड फंडिंग कैंपेन सोमवार (18 दिसंबर) को लॉन्च होने के कुछ ही घंटों के अंदर टेक्निकल खामियों से कुछ देर के लिए रुक गया. ऐसा लगता है कि कांग्रेस पार्टी ने पहल की घोषणा करने से पहले डोमेन नाम को रजिस्टर्ड नहीं कराया था, जिसके चलते ये दिक्कत आई. हैरानी वाली बात ये थी कि कांग्रेस के डोनेशन पेज DonateforDesh.org पर क्लिक करने से विजिटर्स बीजेपी के डोनेशन पेज पर पहुंच जाते थे. इसके अलावा, ‘डोनेट फॉर देश’ कैंपेन के नाम से एक रिलेटेड डोमेन न्यूज वेबसाइट OpIndia की ओर से एक्वॉयर्ड किया गया है. हालांकि, कांग्रेस का कहना है कि टेक्निकल ग्लिच (तकनीकी खामियों) को दूर कर लिया गया है.

DonateforDesh.org पर आ रही टेक्निकल खामियों के बीच कांग्रेस ने बीजेपी पर उसकी ‘कॉपी करने’ और ‘लोगों को भ्रमित’ करने के लिए फर्जी डोमेन बनाने का आरोप लगाया है. कांग्रेस के क्राउड फंडिंग कैंपेन के डोमेन का नाम Donateinc.net है.

सुप्रिया श्रीनेत ने बीजेपी पर लगाए लोगों को भ्रमित करने के आरोप
कांग्रेस नेता और पार्टी की सोशल मीडिया और डिजिटल प्लेटफॉर्म चेयरपर्सन सुप्रिया श्रीनेत ने इस मामले पर बीजेपी पर निशाना साधा है. सुप्रिया श्रीनेत ने X पर लिखा, “सबसे पुरानी पार्टी के डोनेशन कैंपेन शुरू करने के बाद से बीजेपी ‘घबराहट की स्थिति’ में है.

सुप्रिया श्रीनेत ने X पर हिंदी में लिखा, “निरंकुश सत्ता, सारी संस्थाएं, सारे संसाधन और अधिकतम पैसा होने के बावजूद बीजेपी इतनी डरी हुई क्यों है? जब कांग्रेस ने डोनेशन कैंप शुरू किया, तो न सिर्फ बीजेपी के लोग घबरा गए, बल्कि उनके सिस्टम ने फर्जी डोमेन बनाना और विजिटर्स को भ्रमित करना भी शुरू कर दिया. वैसे, हमें कॉपी करने के लिए धन्यवाद. आपका डर देखकर अच्छा लगा.” 

मल्लिकार्जुन खरगे ने की डोनेशन कैंपेन की शुरुआत
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने सोमवार को पार्टी के क्राउड फंडिंग कैंपेन की शुरुआत की. खरगे ने इस दौरान 1 लाख, 38 हजार रुपये डोनेट भी किए. खरगे ने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा, ”एक महीने की तनख्वाह चली गई”. खरगे ने महात्मा गांधी का उदाहरण दिया जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान जनता से दान लिया था.

डोनेशन कैंपे को लेकर कांग्रेस ने कहा, “इस कैंपेन का मकसद समान संसाधन वितरण और अवसरों से समृद्ध भारत बनाने के लिए पार्टी को सशक्त बनाना है.” वेबसाइट पर पेमेंट लिंक डोनर्स को कांग्रेस पार्टी के 138 साल पूरे होने के अवसर पर 138 या 1380  या 13,800 का योगदान करने के लिए प्रेरित करता है.

असमानताओं को पाटने का मकसद
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर कांग्रेस ने लिखा- “एक कैंपेन से परे, यह हाशिए पर रहने वाले समुदायों के अधिकारों की वकालत करने, असमानताओं को पाटने और समृद्ध लोगों का पक्ष लेने वाली सरकार के खिलाफ एक मजबूत विपक्ष के रूप में खड़े होने की प्रतिबद्धता है.”

28 दिसंबर तक ऑनलाइन रहेगा डोनेशन कैंपेन
इस बीच कांग्रेस महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल ने मीडिया को बताया कि डोनेशन कैंपेन मुख्य रूप से कांग्रेस की स्थापना दिवस (28 दिसंबर) तक ऑनलाइन रहेगा. इसके बाद ग्राउंड कैंपेन शुरू हो जाएगा. इसके तहत कांग्रेस के वॉलन्टियर्स डोर टू डोर कैंपेन करेंगे. वॉलन्टियर्स हर बूथ में 10 घरों को टारगेट करेंगे. कम से कम 138 रुपये के योगदान के लिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा.

केसी वेणुगोपाल ने कहा कि राज्य स्तर के पदाधिकारियों, निर्वाचित प्रतिनिधियों, जिला कांग्रेस कमिटी के अध्यक्षों, PCC प्रमुखों और AICC अधिकारियों को कम से कम 1380 रुपये का योगदान करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा.

संभावित डोनर्स की होगी पहचान
वेणुगोपाल ने कहा कि ‘Donate for Desh’कैपेंन की प्रभावशीलता के लिए सभी PCC अध्यक्ष पार्टी के शुभचिंतकों और पदाधिकारियों के बीच संभावित डोनर्स की पहचान करेंगे, जिनका लक्ष्य 1380 रुपये या 13800 रुपये के योगदान का होगा. यह रणनीतिक दृष्टिकोण बेहतर भारत के लिए हमारे दृष्टिकोण की सफलता सुनिश्चित करेगा

Back to top button
close