छत्तीसगढ़ खबरें

Chhattisgarh News : अवैध रेत उत्खनन पर बिफरे मंत्री जी…उत्खनन और परिवहन पर मंत्री ने दिए कड़ी कार्रवाई के निर्देश, चैन माउंटेन एवं परिवहन कर रहे वाहनों को करें जब्त

बलौदाबाजार जिले क़े प्रभारी मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने ली विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक, बारनावापारा अभयारण्य उत्कृष्ट पर्यटन केंद्र के रूप में होगा विकसित, मछली पालन को बढ़ावा देने चलेगा जल से आजीविका अभियान  - प्रभारी मंत्री जायसवाल

Chhattisgarh News. प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री एवं बलौदाबाजार जिले के प्रभारी मंत्री श्याम बिहारी जायसवाल ने शुक्रवार को जिला मुख्यालय बलौदाबाजार स्थित सर्किट हाउस में विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने विभागों द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन तथा लंबित प्रकरणों के सम्बन्ध में विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने रेत के अवैध उत्खनन, परिवहन एवं भण्डारण के मामले को गंभीरता से लेते हुए इस पर पूरी तरह से रोक लगाने के लिए कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

प्रभारी मंत्री श्री जायसवाल ने कहा कि जिन क्षेत्रों में रेत खदान नही है उन क्षेत्रों के लोगों को अपने निजी उपयोग के लिए ट्रैक्टर में रेत ले जाने में प्रतिबंधित न किया जाय, लेकिन रेत खदान से व्यवसायिक रूप से अवैध तरीके से उत्खनन करने वालों पर सख्त कार्यवाही करें। अवैध रेत उत्खनन में लगे चैन माउंटेन एवं परिवहन कर रहे वाहनों पर जब्ती की कार्यवाही करें। Chhattisgarh News

उन्होंने आगामी बारिश में मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए पूर्व तैयारी सुनिश्चित करने तथा बाढ़ प्रभावित गांवो में दवाई एवं अन्य प्राथमिक ईलाज की सुविधाएँ व्यवस्थित करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए। मलेरिया एवं सिकल सेल की नियमित जांच एवं मलेरिया प्रभावित गांवो में मेडिकेटेड मच्छरदानी का वितरण कराने कहा। बारिश में शहरों में जल भराव की स्थिति निर्मित न हो इसके लिए नालियों की साफ -सफाई तेजी से कराने के भी निर्देश दिए।

बारनवापारा अभयारण्य उत्कृष्ट पर्यटन केंद्र क़े रूप में होगा विकसित

प्रभारी मंत्री श्री जायसवाल ने बारनवापरा अभयारण्य को प्रदेश का उत्कृष्ट पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने हेतु कार्ययोजना बनाने के निर्देश वन विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होने कहा कि अभयारण्य में अन्य सुविधाओं के साथ बोटिंग एवं सेल्फी जोन का भी आकर्षण हो। प्रवासी पक्षियों को आकर्षित करने के लिए जलाशय में उपयुक्त जलभराव की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा की बारनवापरा अभयारण्य राजधानी एवं न्यायधानी के नजदीक होने तथा आवागमन की सुविधा होने से पर्यटकों की संख्या में काफी वृद्धि होगी।

मछली पालन को बढ़ावा देने चलेगा जल से आजीविका अभियान

प्रभारी मंत्री ने वृहद स्तर पर किसानों को मछली पालन के लिए प्रोत्साहित करने हेतु जिले में जल से आजीविका अभियान शुरू करने कहा। उन्होंने कहा की मछली पालन एक ऐसा व्यवसाय है जिसमें बहुत ही सीमित संसाधन और कम समय में अधिक फायदा लिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की प्राथमिकता किसानों, युवाओं और महिलाओं को रोजगार -स्वरोजगार से जोड़कर उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त करना है।

Back to top button
close