छत्तीसगढ़ खबरें

CG Assembly Speaker : पूर्व CM भूपेश ने स्पीकर डॉ रमन से कहा – अब हो गया हिसाब-किताब बराबर…सदन में हर किसी की बदल गई भूमिका

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह को छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष चुना गया है. छत्तीसगढ़ की छठवीं विधानसभा के लिए पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह को सर्वसम्मति से विधानसभा का अध्यक्ष बनाया गया है. नए मुख्यमंत्री विष्णु देव साय और नेता प्रतिपक्ष चरणदास महंत मिलकर रमन सिंह को आसंदी तक लेकर गए. इसके लिए सीएम विष्णुदेव साय, चरणदास महंत, बृजमोहन अग्रवाल, केदार कश्यप और अजय चंद्राकर ने प्रस्ताव रखा. जिसका अरुण साव, भूपेश बघेल, विजय शर्मा, भावना बोहरा और पुन्नुलाल मोहले ने समर्थन किया. सभी नवनिर्वाचित सदस्यों ने हाथ उठाकर सर्वसम्मति से पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह को विधानसभा का अध्यक्ष चुना है.

इस मौके पर मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने रमन सिंह को बधाई दी। नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री सहित विपक्ष को भी बधाई दे देते हुए कहा कि इन्होंने परंपरा को कायम रखा। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष केंद्र में मंत्री , सांसद विधायक और मुख्यमंत्री रहे हैं इन्हें सदन का लंबा अनुभव है। इनका सहयोग और मार्गदर्शन मुझे सदैव मिलता रहा है आगे भी मिलता रहेगा।

पूर्व मुखयमंत्री भूपेश बघेल ने भी डॉ रमन को नई जिम्मेदारी के लिए बधाई दी। कहा – लंबा अनुभव लोकसभा सदस्य राज्यमंत्री और मुख्यमंत्री के रूप में रहा है। उन्होंने कहा की सदन की परम्पराएं बदलती रहती है। इस पवित्र सदन में कई नई परंपराओं का निर्वहन हुआ है, उन्होंने कहा की सदन की परम्पराएं बदलती रहती है। जब रिजल्ट आया तो मैं सोच रहा था की मैं अकेला ही भूतपूर्व मुख्यमंत्री रहूंगा लेकिन आपने रहने नहीं दिया। हम दोनों की भूमिकाएं बदल गई इसीलिए हिसाब किताब बराबर हो गया। वहीं आसंदी में डॉक्टर राजेंद्र शुक्ला, गौरीशंकर अग्रवाल, चरण दास महंत सभी ने परम्पराओं का निर्वाह किया है। और सभी सदियों को बधाई दिया। पूरे परिवार का अभिनंदन और आपके दीर्घायु की कामना की।

इस दौरान बृजमोहन अग्रवाल ने पूछा कि इधर उधर की बात ना कर ये बता कारवाँ कैसे लूटा? इस पर भूपेश बघेल ने कहा की इसपर चर्चा के लिए अभी काफी समय है। पिछले बार सदन में आप लोग केवल 15 विधायक थे, इसके बाद महंत जी आप लोगों को ज्यादा समय देते थे, हम तो 35 जीत कर आये हैं  |

Back to top button
close