देश - विदेश

ब्रेकिंग : एक्शन में सरकार….दत्तक ग्रहण केंद्र में मासूम की पिटाई मामले में मैनेजर सीमा द्विवेदी गिरफ्तार, जिला कार्यक्रम अधिकारी सस्पेंड

छत्तीसगढ़ के कांकेर स्थित दत्तक केंद्र में मासूम बच्ची की पिटाई मामले में आरोपी प्रोग्राम मैनेजर सीमा द्विवेदी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसे लेकर महिला एवं बाल विकास विभाग (WCD) की ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई थी। वहीं लापरवाही बरतने पर तत्कालीन WCD अधिकारी चंद्र शेखर मिश्रा को संस्पेंड करने के साथ ही बाल संरक्षण अधिकारी रीना लारिया को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उन्हें एक दिन में इसका जवाब देना है। उन पर मारपीट मामले में साक्ष्य छिपाने का आरोप है।

बाल संरक्षण आयोग करेगा मामले की जांच

वहीं दूसरी ओर इस मामले की जांच छत्तीसगढ़ बाल संरक्षण आयोग करेगा। इसके लिए आयोग की टीम आज ही केंद्र पहुंचेगी। साथ ही जांच टीम को मौके पर जाकर प्रतिवेदल देने के आदेश दिए गए हैं। आयोग की ओर से इस संबंध में मामला दर्ज कराने के लिए भी कहा गया है। आयोग के अध्यक्ष तेजकुंवर नेताम ने सदस्य अगस्टीन बर्नाड को कांकेर में घटना स्थल पर जाकर विस्तृत जांच के निर्देश दिए हैं। उन्होंने शाम तक जांच रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं।
मिश्रा पर 50 हजार लेकर मामला रफा-दफा करने का आरोप
इससे पहले इस मामले की शिकायत महिला बाल विकास अधिकारी रहे सीएस मिश्रा तक भी पहुंची थी। आरोप है कि, अफसर ने 50 हजार लेकर मामला दबा दिया। कैमरे रात में बंद रहते हैं। दत्तक केंद्र में बच्चों की सुरक्षा के लिए बरामदे, गेट समेत अन्य जगह आठ सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। मैनेजर रोजाना रात कैमरे बंद कर देती है। वहीं कलेक्टर प्रियंका शुक्ला ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कही है। साथ ही जांच के आदेश दिए हैं।

रात में आता है बॉयफ्रेंड, विवाद के बाद बच्चों को पीटती

दरअसल, शिवनगर स्थित दत्तक ग्रहण केंद्र में सीमा द्विवेदी एनजीओ के माध्यम से प्रोग्राम मैनेजर पदस्थ हैं। जहां का एक वीडियो सामने आया है। जिसमें वह बच्चों की बेदर्दी से पिटाई करती दिख रही है। सीमा ने एक बच्ची को पहले हाथ से मारा फिर बाल से पकड़ उठाकर जमीन पर पटक दिया। जमीन पर गिरी बच्ची को दोबारा फिर से खड़ा किया, एक बांह पकड़कर पलंग पर पटक दिया। बच्ची चीखती है, चिल्लाती है, रोने लगती है।

विरोध करने पर आठ कर्मचारियों को काम से निकाला

कांकेर के इस दत्तक ग्रहण केंद्र में 6 साल तक के यतीम बच्चों को रखा जाता है। प्रोग्राम मैनेजर का बॉयफ्रेंड है, जो अक्सर रात में संस्था में पहुंचता है। जबकि यहां बाहरी लोगों का आना प्रतिबंधित है। जब बॉयफ्रेंड से कभी विवाद हुआ तो बौखलाई मैनेजर इसका पूरा गुस्सा बच्चों पर उतारती है। यहां के बच्चे महीनों से प्रताड़ना सह रहे हैं। इसका विरोध करने वाले आठ कर्मचारियों को एक साल के अंदर केंद्र से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

मैनेजर की पहले भी हो चुकी है शिकायत

दत्तक केंद्र की महिला मैनेजर के खिलाफ जिसने भी आवाज उठाई उसे निकाल दिया गया. इसका विरोध करने वाले 8 कर्मचारियों को एक साल में बाहर निकाल दिया गया. शिकायत महिला बालविकास विभाग तक पहुंची लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई. कार्यवाही नहीं होने से प्रोग्राम मैनेजर का हौसला बुलंद रहा और वह बच्चों पर बर्बरता करती रही,,जो अब भी जारी है. हाल ही में मारपीट का वीडियो वायरल होने पर विभाग ने मैनेजर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने महिला प्रोग्राम मैनेजर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

 

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close