न्यूज़ब्रेकिंग न्यूज़

बड़ी कार्रवाई : कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ काम करना पड़ा महंगा, पार्टी ने पूर्व महिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष सहित 3 को किया पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित

Advertisement
Join WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद पार्टी विरोधी काम करने वाले नेताओं के खिलाफ कांग्रेस एक्शन मोड पर है। पार्टी ने जगदलपुर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ काम करने वाले पार्टी ने तीन नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्या से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। इनमें पूर्व महिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष कमल झज्ज सहित विक्रम शर्मा और कुक्की झारी शामिल है।

Advertisement

 

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में पहले और दूसरे चरण के मतदान के बाद कांग्रेस पार्टी सूबे की 90 विधानसभा सीटों में जीत-हार का आंकलन कर रही है। प्रदेश प्रभारी कुमारी सैलजा और पीसीसी चीफ दीपक बैज ने पिछले 2 दिनों तक रायपुर के राजीव भवन में कांग्रेस प्रत्याशियों से वन टू वन बात कर चुनाव में उनकी जीत और हार की समीक्षा की। पार्टी हाईकमान की इस समीक्षा बैठक में कई प्रत्याशियों ने अपने ही पार्टी के पदाधिकारियों पर भीतरघात और पार्टी विरोधी काम करने के गंभीर आरोप लगाये गये है।

शिकायतों की इसी कड़ी में जगदलपुर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी जतिन जायसवाल और स्थानीय संगठन के पदाधिकारी ने आला कमान से भीतरघातियों की शिकायत की थी। प्रमाण के साथ किये गये शिकायत के बाद पार्टी हाईकमान के निर्देश पर जगदलपुर में शहर जिला अध्यक्ष सुशील मौर्य ने निष्कासन की कार्रवाई की है।बताया जा रहा है कि पूर्व महिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष कमल झज्ज ने डेढ़ साल पहले ही अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था।

लेकिन पार्टी की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई। आरोप है कि उन्होने सोशल मीडिया पर बीजेपी के उम्मीदवार किरण देव के समर्थन में प्रचार किया। इसी के आधार पर कांग्रेस ने कमल झज्ज को पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। इसके अलावा जगदलपुर में विक्रम शर्मा और कुक्की झाड़ी के खिलाफ भी पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में निष्कासन की कार्रवाई की गई है।

ब्रेकिंग : बिलासा एयरपोर्ट से हवाई सेवा का भव्य शुभारंभ… वाटर कैनन से पहली फ्लाईट का स्वागत, केंद्रीय उड्डयन मंत्री और मुख्यमंत्री बघेल ने दी बधाई…जानिए मुख्यमंत्री ने क्या कहा
READ
Advertisement
Back to top button