राजनीति

बलौदाबाजार हिंसा: भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद पहुंचे छत्तीसगढ़, बोले- निर्दोष लोगों को पीटा जा रहा, घटना की CBI जांच कराएं सीएम, 10 दिन बाद छत्तीसगढ़ में करूंगा…

एक दिवसीय छत्तीसगढ़ दौरे पर आए भीम आर्मी प्रमुख सांसद चंद्रशेखर आज़ाद ने बलौदाबाजार हिंसा मामले में बिलाईगढ़ भटगांव में सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में सतनामी समाज के लोगों पर जुल्म किया जा रहा है, सतनामी समाज बहुत न्यायप्रिय है, और हिंसा में विश्वास नहीं करने वाला समाज है, जिस प्रकार से षड्यंत्र करके उनको टारगेट किया जा रहा है, मैं उसके खिलाफ हूं, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर छत्तीसगढ़ सरकार सीबीआई जाँच नहीं कराती है इस पूरे मामले की तो 10 दिन के बाद में छत्तीसगढ़ में अनिश्चितकालीन आंदोलन करूंगा। आप मुझे सिर्फ दस दिन का समय दीजिये

सांसद चंद्रशेखर आज़ाद ने कहा कि अगर पुलिस सही समय पर कार्रवाई की होती तो इस तरह की घटना नहीं होता,जैतखाम की घटना के बाद सतनामी समाज लंबे समय से ज्ञापन दे रहा था, इसके बाद भी किसी तरह की एक्‍शन नहीं लिया गया था, आगे उन्होंने कहा कि सतनामी समाज की आस्थाओं से खिलवाड़ किया जा रहा है, हमारी आस्था का सम्मान नहीं किया जा रहा है, हम कई महीनो से सीबीआई जाँच की मांग कर रहे है, लेकिन सरकार की तरफ से इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है ,पुलिस सतनामी समाज और भीम आर्मी के निर्दोष नौजवानों को पकड़कर उन्हें पीटा जा रहा है, या हम बर्दास्त नहीं करेंगे ,

छतीसगढ़ दौरे के दौरान सांसद चंद्र शेखर आज़ाद ने रायपुर में राजभवन पहुंचकर राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन से भेंट की, बलौदाबाजार हिंसा मामले में ज्ञापन देते हुए इस पूरे मामले को संज्ञान में लेने की मांग की।

बता दें कि आगजनी मामले में पुलिस ने भीम आर्मी छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार जांगड़े, प्रदेश उपाध्यक्ष दिनेश कुमार कठौतिया, भीम आर्मी प्रदेश महासचिव रामस्वरूप महिलांगे, सारंगढ़-बिलाईगढ़ भीम आर्मी प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विजय सोनवानी समेत 153 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने वीडियो, फोटो, सीसीटीवी फुटेज के साथ ही अन्य तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों की पहचान कर आरोपियों को गिरफ्तार किया है,

बड़ी आंदोलन की चेतावनी
भीम आर्मी प्रमुख सांसद चंद्रशेखर आजाद ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि, मुझे 10 दिनों का समय दे दीजिए। मैं दिल्ली जाकर देश के गृह मंत्री से चर्चा करूंगा और निर्दोषों पर हुए कार्यवाही को लेकर उनकी रिहाई को मांग करूंगा। अगर सरकार निर्दोषों को रिहा नहीं करेगी तो इसी महीने में छत्तीसगढ़ में भीम आर्मी के द्वारा बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

वही चंद्रशेखर आजाद ने बलौदाबाजार हिंसा को लेकर कहा कि कलेक्‍टर और एसपी यदि हटाए गए हैं तो यह माना जाना चाहिए कि उन्‍होंने लापरवाही की थी। यदि गलती उनकी नहीं होती तो उन्‍हें हटाया नहीं जाता।

Back to top button
close