द बाबूस न्यूज़द ब्यूरोक्रेट्स

पूर्व IAS के खिलाफ चार्जशीट जारी, 2012 बैच के हैं IAS अफसर….ट्वीट में लिखा – ‘मेरे खिलाफ फाइल हुई चार्जशीट’

कश्मीर मसले को लेकर अगस्त महीने में नौकरी से इस्तीफा देने वाले पूर्व आईएएस अधिकारी कन्न्न गोपपीनाथन के ख़िलाफ़ गृह मंत्रालय ने चार्जशीट जारी किया है। मंत्रालय ने उन्हें बुधवार यानी 6 नवंबर को 2012 बैच के इस अधिकारी के ख़िलाफ़ आरोप पत्र जारी किया। उन पर आरोप है कि उन्होंने सरकारी आदेश का पालन नहीं किया। अपने इस्तीफे की जांच के दौरान हेडक्वॉर्टर छोड़ देने का भी गोपीनाथन पर आरोप था।

बता दें कि गोपीनाथन दमन-दीव और दादर-नागर हवेली में पावर डिपार्टमेंट में सेवाएं दे चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एक दिन पहले ही गोपीनाथन ने चुनाव आयुक्त अशोक लवासा का समर्थन किया था। बता दें कि लवासा के पुराने रिकॉर्ड खंगालने का आदेश जारी किया गया है। गोपीनाथन ने कहा कि लवासा को ‘सरकार इसलिए निशाना बना रही है’ क्योंकि उन्होंने ‘ईवीएम-वीवीपैट में खामियां ढूंढने में दिलचस्पी दिखाई थी ।

गोपीनाथन ने 23 अगस्त 2019 को अपना इस्तीफा डीडीडी एंड एनएच और गृह मंत्रालय को भेज दिया था। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में अभिव्यक्ति की आज़ादी नहीं होने का हवाला देते हुए नौकरी से इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने के बाद वह काम पर नहीं लौटे थें। गोपीनाथन पर सरकारी नीतियों के मुद्दों पर प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया के साथ गैर आधिकारिक रूप से चर्चा करने का भी आरोप है। आरोप पत्र में कहा गया है कि उनके द्वारा सरकारी नीतियों की की गई ऐसी आलोचना ‘विदेशों सहित अन्य संगठनों के साथ केंद्र सरकार के संबंधों को शर्मसार कर सकती है ।

गोपनीनाथन ने आरोप पत्र को ट्वीटर पर साझा करते हुए लिखा कि

“आखिरी आरोप यह है कि मीडिया के साथ मेरी बातचीत ने भारत सरकार के ख़िलाफ नुकसान पहुंचाने वाली छवि तैयार की है।”

गोपीनाथन के हवाले से मीडिया में आई ख़बर के मुताबिक उन्हें अवर सचिव राकेश कुमार के साइन वाली चार्जशीट ईमेल मिली है। इस ई-मेल में 24 अक्टूबर की तारीख दर्ज है। गोपीनाथन ने ट्वीट पर लिखा कि

दमन प्रशासन के अधिकारी ने मुझे फोन किया और कहा कि सर पता बता दीजिए आपके ख़िलाफ़ चार्जशीट भेजना है। इस पर उन्होंने आगे इसी ट्वीट में लिखा कि चूंकि मेरा अपना घर नहीं है और मैं किराए पर रहता हूं। ऐसे में मुझे आशंका है कि ईडी और आईटी जल्द ही मुझे फोन कर के कहेगा कि ज़रा पता बता दीजिए, आपके घर छापा मारना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button