देश - विदेश

ब्रेकिंग : चौकी प्रभारी, होमगार्ड समेत 15 की मौत : चमोली नमामि गंगे प्रोजेक्ट में हादसा, सीवर प्‍लांट में करंट दौड़ने से 15 की मौत, कई घायल

उत्तराखंड से एक महत्वपूर्ण खबर मिली है। बुधवार को चमोली जिले में एक सीवर प् लांट में करंट उतरने से 15 लोग मारे गए। एक पुलिस इंस्पेक्टर और चार होमगार्ड भी हैं। पांच कर्मचारी झुलस गए, दो गंभीर हालत में हैं। मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है, ऐसा बताया जा रहा है। नमामि गंगे कार्यक्रम इस सीवर प् लांट को बना रहा है। गंभीर झुलसे कर्मचारी अस्पताल में भर्ती हो गए हैं। प्रशासनिक और पुलिस टीमें बचाव कार्य में जुट गई हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

बताया जा रहा है कि ट्रांसफार्मर फटने से सीवर प्लेट में करंट फैल गया। इसकी चपेट में वहां काम कर रहे सभी कर्मचारी आ गए। चमोली दुर्घटना ने आसपास के क्षेत्रों को हिला दिया है। पुलिस और प्रशासन की टीमों ने तुरंत गंभीर झुलसे लोगों को अस् पताल भेजा। चमोली के एसपी प्रमेंद्र दोवाल ने बताया कि दुर्घटना में कई लोग झुलस गए हैं। यह हादसा अलकनंदा नदी के किनारे एक ट्रांसफार्मर में धमाका होने के बाद हुआ है, जिसके कारण करंट दौड़ा है।

चौकी इंचार्ज की भी मौत
एडीजीपी वी मुरुगासन ने बताया कि हादसे में 15 लोग मर गए हैं। एक पुलिस सब इंस्पेक्टर और पांच होमगार्ड भी हैं। पूरी घटना की जांच की जा रही है। पहली नज़र में पता चला कि रेलिंग में करंट था। इससे नुकसान हुआ है। आगे की जांच जारी है। उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि इस हादसे में बदरीनाथ हाइवे पर तैनात एक चौकी प्रभारी की भी मौत हो गई है। उनका शरीर पोस् टमार्टम भेजा गया है।

ऊर्जा निगम के खिलाफ आरोप
इस घटना के बाद स्थानीय लोगों में गुस्सा है। उन्होंने ऊर्जा निगम पर लापरवाही का आरोप लगाया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दुर्घटना पर शोक व्यक्त करते हुए न्यायिक जांच का आदेश दिया है। दुर्घटना के बाद प्रोजेक् ट काम नहीं कर रहा है। इस घटना के बाद पूरे इलाके में रोष है। नमामि गंगे प्रोजेक् ट से जुड़े टेक्नीशियन और अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं। हादसा हुआ उस समय 22 लोग मौजूद थे।

 

Back to top button
close