मीडिया
Trending

बिग ब्रेकिंग : रेंजर से सवा करोड़ की वसूली करते पत्रकार और महिला मित्र गिरफ्तार….रेंजर को CBI जांच का डर दिखाकर 1.25 करोड़ की मांग, 95 लाख से ज्यादा की रकम ले भी चुके थे, अंतिम किश्त लेने पहुंचे थे…..पत्रकारिता की आड़ में ब्लैकमेलिंग का बड़ा मामला

पत्रकारिता की आड़ में ब्लैकमेलिंग के बड़े मामला का खुलासा हुआ है, ब्लैकमेलिंग के मामले में कथित पत्रकार और उसकी कथित गर्लफ्रेंड को मुंगेली पुलिस ने गिरफ्तार किया है, पुलिस के गिरफ्त से उनके एक साथी अभी भी फरार है, कथित पत्रकार ने वन विभाग के रेंजर को सीबीआई जांच में फंसाने का भय दिखाकर 1.25 करोड़ की मांग की थी । बताया जा रहा है कि सवा करोड़ की डिमांड में से 95 लाख रुपये की वसूली कर ली भी गयी थी, आखिरी किश्त लेने के दौरान मुंगेली रेंजर सीआर नेताम ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी, जिसके बाद मुंगेली की कोतवाली पुलिस ने रंगे हाथों दोनों कथित पत्रकारों को पकड़ लिया।पैसे वसूली के दौरान दोनों को गिरफ्तार किया गया है। मुंगेली पुलिस जल्द ही मामले का खुलासा करेगी ।

जानकारी के मुताबिक बिलासपुर में न्यूज 24 नाम का वेबपोर्टल परमवीर मरहास और उसकी कथित गर्लफ्रेंड वर्षा तिवारी चला रहे थे, जानकारी के मुताबिक मुंगेली वन मंडल में कुछ गड़बड़ियां हुई थी। मुंगेली के रेंजर सी आर नेताम को इसी मामले में सीबीआई जांच का डर दिखाया, और भयादोहन करते हुए एक करोड़ रुपए की मांग की थी । मामले में मजेदार तथ्य है कि रेंजर सी आर नेताम जिस सरताज इरानी को अपना करीबी समझता रहा वही उसके खिलाफ मुखबिर निकला । सरताज ईरानी ने परमवीर मरहास के साथ मिलकर रेंजर को ब्लैकमेल करने का ये पूरा प्लान बनाया है। हालांकि अभी तक ये जानकारी सामने नहीं आयी है कि आखिरकार मरहास और वर्षा तिवारी किस घोटाले के नाम पर रेंजर को ब्लैकमेल कर रहे थे, जिसके एवज में वह मामूली से न्यूज पोर्टल चलाने वाले कथित पत्रकार को एक करोड़ रुपए जैसी भारी-भरकम राशि देने को भी तैयार हो गया।

पूछताछ में पता चला है कि सरताज ईरानी ने परमवीर और वर्षा से कहा था कि जितनी भी रकम की वसूली की जायेगी, उसकी 60 प्रतिशत राशि वो खुद रखेगा, जबकि 40 फीसदी रकम पत्रकारों को मिलेगा। पुलिस ने दोनों कथित पत्रकारों को पकड़ने के बाद पुलिस ने सरताज ईरानी को भी दबोचने का प्लान बनाया था, लेकिन ऐन मौके पर वो फरार हो गया। पुलिस ने दोनों कथित पत्रकार से पार से 7.50 लाख रुपये बरामद भी किये हैं। इस पूरी कार्यवाही में मुंगेली के अलावा सरगांव पुलिस की विशेष टीम जुटी हुई थी । जिन्होंने इस बड़े मामले का खुलासा किया है।

न्यूज पोर्टल चलाने वाले परमवीर मरहास और उसकी कथित गर्लफ्रेंड वर्षा तिवारी की छवि शुरू से ब्लैकमेलर की रही है। ये दोनों तखतपुर और मुंगेली क्षेत्र में घूम-घूमकर वसूली करते थे |

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close