देश - विदेश
Trending

ब्रेकिंग : विरोध तो बहाना असल में “करोड़ो की जमीन” पर कब्जियाना….पठान फिल्म के विरोध में पहुंचे बजरंगियों ने अपने ही नेता के खिलाफ खोला मोर्चा….जमकर हुआ बवाल..जानिये क्या है पूरा मामला

बिलासपुर में जमीन कब्ज़ा की कई खबरें तो पढ़े होंगे, लेकिन यह खबर उन खबरों से बिलकुल अलग है | इस बार करोड़ों की जमीन पर कब्ज़ा जमाने बिलकुल नया और नायाब तरीका सामने आया है।

दरअसल शुक्रवार को दोपहर ठीक साढे़ 12 बजे ललित की अगुवाई में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बजरंग दल के नेता मैग्नेटो मॉल में पठान फिल्म का विरोध करने पहुंचे । इसके पहले सभी नेता वैशाली नगर के सामने ठीक रायल फिल्ड के बगल की खाली जमीन पर सभा का आयोजन किया । इस दौरान हिन्दू परिषद के नेता ललित ने उपस्थित बजरंगियों को संबोधित किया । धीरे धीरे पठान फिल्म विरोध को लेकर सैकड़ों की संख्या में बजरंगी आमसभा में एकत्रित हो गए । करीब एक घंटा बाद सभी बजरंगियों ने मैग्नेटो पीवीआर की तरफ रवाना होने को कहा गया। इतने में ही विरोध की अगुवाई कर रहे ललित ने कहा कि कुछ देर और इंतजार करके भीड़ बढ़ने के बाद जाने की बात कहने लगे, साथ ही कहा कि सभी मिलकर श्रमदान करें..और रामधुन के साथ सत्संग भी करें। बजरंगियों ने करीब एक घंटा ऐसा ही किया। इसी बीच बजरंगियों ने देखा कि मोल्डेड शीट, सीमेन्ट और ईंटा से भरकर दो ट्रक आमसभा स्थल पहुंचा । ट्रकों का सामान उतारा जाने लगा। इतने में ही कुछ लोग मामले को भांपने में नहीं किया, और फिर बजरंगियों ने विरोध करना शुरू कर दिया। इसके बाद ललित और बजरंगियों के बीच जमकर बहस होने लगी।

बातचीत के दौरान भाजपा नेता दुर्गेश पाण्डेय ने बताया कि हमें पठान फिल्म के लिए बुलाया गया। लेकिन आमसभा के दौरान जानकारी मिली कि ललित ने विरोध के बहाने जमीन पर कब्जा करने बुलाया है। हम किसी जमीन विवाद का हिस्सा नहीं बनेंगे। संभव हो कि जमीन ललित का हो..लेकिन हम पठान फिल्म का विरोध करने आए है। पंडों की तरह जमीन हड़पने नहीं, जबकि उन्हें पता है कि इस प्रकार की गतिविधियों से बजरंग दल का कोई नाता नहीं है। इस बात को लेकर जमकर बहस हुई। बात तू-तू,मै-मैं तक पहुंच गयी। मौके पर मौजूद पुलिस ने बीच बचाव कर बहस को किसी तरह शांत कराया। खबर मिलते ही तहसील प्रशासन भी मौके पर पहुंच गया। नायब तहसीलदार राहुल शर्मा ने भी दोनो पक्षों को जरूरी निर्देश दिया। इसके बाद सभी बजरंगी फिल्म का विरोध किए बिना ही अपने धाम लौट गए।

नायब तहसीलदार राहुल शर्मा ने बताया जूना बिलासपुर हल्का खसरा नम्बर 730 और 732 का सीमांकन मामला। दोनो पक्षों का अपना अलग अलग दावा है। मामला अभी कोर्ट में है। इसलिए इस पर कुछ कहा जाना उचित नहीं होगा।

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close