राजनीति

फेसबुक लाइव कार्यक्रम में युवा हितों पर मुखर हुए पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल… लोक सेवा आयोग की कार्यप्रणाली पर उठाए सवाल…प्रोबेशन कॉल में वृद्धि और स्टाइफन वेतन को युवाओं के साथ बताया खिलवाड़

– बिलासपुर राजस्व विभाग की कार्यप्रणाली में सुधार न होने पर कलेक्टर के घेराव की दी चेतावनी

फेसबुक लाइव कार्यक्रम में अपनी से अपनी बात में युवाओं के मुददे पर मुखर होते हुए पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार युवा हितों की साथ खिलवाड करने में लगी हुई है।सरकार ने घोषणा पत्र अनुसार बेरोजगारी भत्ते के युवाओं को ठगने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि सरकारी भर्ती की एजेंसियां लोकसेवा आयोग द्वारा मनमाने ढंग से परीक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। 2020 की लोकसेवा भर्ती परीक्षा में में मॉडल उत्तर में गड़बड़ी के बाद प्रदेश के युवाओं में आक्रोश व्याप्त है। पीएससी द्वारा ली जाने वाली हर परीक्षा में प्रश्नों के उत्तर में गड़बड़ियां की जा रही है जिसमें बड़ी संख्या में सही उत्तर देने वाले प्रतिभागियों के हित प्रभावित हो रहे हैं। प्रश्न पत्र सेट करने वाले विशेषज्ञ की दक्षता के संबंध में लोक सेवा आयोग दोयम दर्जे का साबित हुआ है।

पिछले माह 14 फरवरी को वर्ष 2020 राज्य लोक सेवा प्रारंभिक परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों में एक दर्जन से ज्यादा प्रश्नों के विवादास्पद उत्तर आयोग के द्वारा लिए जाने से राज्य भर में युवा आंदोलित हो गए हैं और लोक सेवा आयोग की कार्यप्रणाली प्रतियोगियों पालको में बड़ी निराशा की स्थिति देखी जा रही है,भर्ती में अपनों को फायदा पहुंचाने के लिए 20% के मार्जिन तय की गई है। सरकार केवल आंकड़े गिनाने में लगी हुई है। 2 वर्षों में व्यापम के द्वारा किसी भी प्रकार की भर्ती नहीं की गई है। किसी भी परीक्षा के प्रश्न पत्र में 20% प्रश्नों का विलोपन मान्य होना अपने आप में परीक्षा लेने वाली एजेंसी/ प्रश्नों को सेट करने वाले विशेषज्ञ को बचाने के लिए विधिक उपाय है इससे छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग की विश्वसनीयता पर और दक्षता पर प्रश्न चिन्ह और भी गहरा होता है। पीएससी की किसी परीक्षा के प्रश्न और उत्तर में न्यूनतम त्रुटि हो, पारदर्शी ढंग से सुधार कर भर्ती परीक्षा की विश्वसनीयता को कायम रखा जाए।

उन्होंने कहा नई भर्ती के बाद युवाओं का प्रोबेशन काल कोरोना के नाम पर राज्य की वित्तीय हालात का हवाला देते हुए अकारण 3 वर्ष कर दिया गया है यह सीधे-सीधे युवाओं के साथ अन्याय है। कड़ी मेहनत के बाद भर्ती परीक्षा में चयनित होने वाले अभ्यर्थियों को पूर्णकालिक वेतन की बजाए स्टाईफेंड वेतन जारी करने का नियम बना दिया गया है युवा हितों के साथ खिलवाड़ बंद किया जाना चाहिए। कर्मियों के डीए को अनावश्यक रूप से लंबित रखा गया है और 6 महीने तक वेतन वृद्धि भी नहीं दी जा रही है।

बिलासपुर जिले में राजस्व विभाग में आए दिन गड़बड़ी के मामलों पर कलेक्टर को संज्ञान लेकर सुधार की कवायद करने हेतु श्री अग्रवाल ने मांग की । उन्होंने बताया बिलासपुर जिले में राजस्व विभाग भू माफियाओं के साथ मिलकर संगठित गिरोह के रूप में काम कर रहा है किसी की जमीन पर भी कब्जा कर लिया जाता है।सीमांकन और रजिस्ट्री के 35 साल पुराने मामले खोलकर के लोगों को परेशान किया जा रहा है। नामांतरण और सीमांकन और अन्य राज्यों से संबंधित लोक सेवा गारंटी और सिटी सेंटर के विषयों के निस्तारण में विभागीय हमले की कोई रुचि नहीं है। उन्होंने कहा सरकंडा में एक वृद्ध महिला घर में अचानक भू माफिया आकर कब्जा दखल करने लगा। राजस्व विभाग की मिलीभगत से वृद्धा की जमीन के कागजात भू माफिया ने तैयार करा लिए। निस्तार पत्रक को छोड़कर मिसल बंदोबस्त लागू होने से आज दिनांक तक सभी सरकारी भूमियों का रिकॉर्ड दुरुस्ती करण और सत्यपान की मांग श्री अग्रवाल ने कलेक्टर बिलासपुर से करते हुए कहा यदि शीघ्र ही राजस्व विभाग द्वारा कार्य प्रणाली में सुधार नहीं लाया गया तो कलेक्टर का घेराव किया जाएगा और जन आंदोलन होगा।

मुख्यमंत्री मीडिया के बयानों में बिलासपुर को अपना बताते हैं जबकि बिलासपुर के विकास के लिए उन्होंने किसी भी प्रकार की फंडिंग नहीं की उनके नाम से एक कॉलेज खेल मैदान की जमीन को निजी ट्रस्ट को फायदा पहुंचाने का कार्य कराया जा रहा है। अवैध प्लाटिंग के खुले खेल में कागजों में कार्यवाही हो रही है। पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफ आई आर फाइलों में दम तोड़ रही है और अवैध प्लाटिंग का सत्ता के संरक्षण दिनोंदिन फल फूल रहा है।

होली के त्यौहार और विश्व रंगमंच की बधाई देते हुए उन्होंने जीवन में हर भूमिका को शिद्दत से अदा करने की करने की अपील करते हुए कहा कोरोना के खिलाफ टीकाकरण के वैश्विक अभियान में 100 से अधिक देशों में भारतीय वैक्सीन भारतीय दर्शन पर आधारित मानव सेवा के कार्य में लगी हुई है हमारे देश में प्रत्येक देशवासी के लिए टीका उपलब्ध होगा।

आश्चर्य है कि इस महाअभियान को जहां विश्व भर में सराहा जा रहा है वहीं भारत में कांग्रेस जैसे राष्ट्रीय दल टीके की विश्वसनीयता को लेकर देश में भ्रम की राजनीति कर रहे हैं । छत्तीसगढ़ सरकार की अनदेखी के कारण तेजी से कोरोनावायरस में बढ़ रहे हैं आम नागरिकों से अपील है कि वे कोरोना मानकों का पालन करें और टीकाकरण अभियान को सफल बनावे।

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close