देश - विदेश
Trending

एसीबी ब्रेकिंग :15 सरकारी अफसरों के घर ACB की रेड, अफसरों के पास मिला “कुबेर का खजाना”….पाइप से पानी की जगह निकलने लगे नोट…PWD इंजीनियर के घर छापे के दौरान हैरान रह गई ACB टीम

एक कवाहत जरूर सुने होंगे जो अक्सर फिलूज खर्ची के लिए इस्तेमाल होता है और वो कहावत है पानी की तरह पैसा बहाना. मतलब फिलूज खर्ची करना. लेकिन लगता है पीडब्ल्यूडी विभाग के जूनियर इंजीनियर ने इस कवाहत को सीरियसली ले लिया और पानी की पाइप में नोट भर दिए. आयकर विभाग की रेड पड़ी तो पाइप में से पानी की तरह पैसा निकलता हुआ मिला. मामला कर्नाटक के कलबुर्गी का है जहां एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने लोक निर्माण विभाग के जूनियर इंजीनियर बिरादर के सांथनागौड़ा के गुब्बी कॉलेनी स्थित घर पर रेड़ मारी. छापेमारी के दौरान प्लबंर को बुलाया गया और प्लंबर ने जैसी ही पाइप काटा वैसे ही पानी की तरह पैसा बहने लगा. घर से कुल मिलाकर 40 लाख रूपये नगद बरामद किए गए जबकि पाइप से पांच लाख रूपये निकले.

इसके अलावा इंजीनियर साहब के घर से प्रॉपर्टी के भी कई कागजात मिले हैं. इसमें रेसिडेंस के अलावा फॉर्म हाउस और विला के भी कागज मिले हैं. एंटी करप्शन ब्यूरो के अधिकारी अबतक साफ तौर पर नहीं बता पा रहे हैं कि इस धनकुबेर के पास कितना धन है.

WATCH Karnataka ACB recovers approximately ₹13 lakhs during a raid at the residence of a PWD junior engineer in Kalaburagi

(Video source unverified) pic.twitter.com/wlYZNG6rRO
— ANI (@ANI) November 24, 2021

पीडब्ल्यूडी इंजीनियर बिरादर ने साल 1992 में बतौर जूनियर इंजीनियर कलबुर्गी जिला पंचायत के इंजनीयरिंग विभाग में नौकरी शुरू की. शुरू में वो संविदा पर रहे फिर 2000 में पर्मानेंट हो गए. बिरादकर की संपत्ति देखकर लगता है कि ये सालों से घूस खा रहे थे और वो भी इतनी की इतनी प्रापर्टी लेने के बावजूद इतना कैश घर में रखा हुआ था. फिहलाल बिरादर एसीबी के हत्थे चढ़ चुके हैं और हो सकता है आने वाले दिनों में ईडी भी इस केस की छानबीन करे ये जानने के लिए कि बिरादर ने देश के बाहर तो कहीं पैसा नहीं छुपा रखा. बहरहाल सोशल मीडिया पर पाइप से पैसे निकलने का वीडियो वायरल है.

ACB ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में कर्नाटक सरकार के 15 अधिकारियों के खिलाफ छापेमारी की। 15 अधिकारियों के 60 ठिकानों पर हुए इस छापेमारी में बड़ी मात्रा में सोना, नकदी और संपत्ति की कागजात बरामद हुए हैं, जिसे देखकर एसीबी अधिकारियों की आंखें फटी की फटी रह गईं। कर्नाटक सरकार के 15 अधिकारियों के खिलाफ छापेमारी में 8 एसपी, 100 अधिकारियों और 300 कर्मचारियों की टीम शामिल थी। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने सरकारी अधिकारियों के 60 ठिकानों पर तलाशी ली। एसीबी के एक अधिकारी ने बताया कि तलाशी के बाद हमारे अधिकारी दस्तावेजों का सत्यापन कर रहे हैं।

Sahu Ashish

आशीष साहू ने लिखने-पढ़ने की अपनी अभिरुचि के चलते पत्रकारिता का रास्ता चुना। पत्रकारिता में डिप्लोमा हासिल करने के बाद जुलाई 2012 में दैनिक हिंदी हरिभूमि में बतौर ट्रेनी सब एडिटर दाखिला हो गया | वहां के बाद अक्टूबर 2016 से सीजी न्यूज़ 24 डॉट कॉम टीम का हिस्सा बन गए। यहां फिलहाल संपादक के पद पर तैनाती है। बिलासपुर के रहने वाले हैं और शुरुआती पढ़ाई वहीं हुई। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय से कम्प्यूटर में स्नातक की डिग्री है। साहित्यिक अभिरूचियां हैं। कविता-उपन्यास पढ़ना पसंद है। इतिहास के विषय पर बनी फिल्में देखने में दिलचस्पी है। थोड़ा-बहुत गीत-संगीत की दुनिया से भी वास्ता है।
Back to top button
close