ताज़ातरीन

CBI चीफ पद से हटाए गए आलोक वर्मा ने छोड़ी नौकरी, मोदी सरकार ने डीजी फायर सर्विसेज एंड होमगार्ड विभाग में किया था तबादला

CBI के डायरेक्टर आलोक वर्मा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, इससे पहले आलोक वर्मा ने डीजी फायर सर्विसेज एंड होमगार्ड का पद संभालने से इनकार कर दिया था. गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने उन्हें सीबीआई चीफ के पद से हटा दिया था और उनका तबादला बतौर डीजी फायर सर्विसेज एंड होमगार्ड कर दिया था |

– विज्ञापन –

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 8 जनवरी को मोदी सकरार को बड़ा झटका देते हुए सीवीसी के फैसले को पलटकर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का फैसला रद्द कर दिया था, और कहा था कि आलोक वर्मा सीबीआई के चीफ बने रहेंगे | इसके साथ ही कोर्ट ने अपने फैसले में सरकार को कहा था कि सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने का कोई अधिकार नहीं है, ये अधिकार सिर्फ सेलेक्ट कमेटी के पास है |

- विज्ञापन-

वही गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने उन्हें सीबीआई चीफ के पद से हटा दिया था और उनका तबादला बतौर डीजी फायर सर्विसेज एंड होमगार्ड कर दिया था. बता दें कि DoPT सरकार का विभाग है जहां से सरकारी मशीनरी में टॉप ऑफिसर्स की नियुक्ति होती है |

क्या है मामला
सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे, जिसके बाद सरकार ने 23 अक्टूबर को दोनों को छुट्टी पर भेज दिया था, इस मसले को अलग-अलग याचिकाओं के जरिए कोर्ट में रखा गया था |

आलोक वर्मा को हटाए जाने पर कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया और लिखा- ‘आलोक वर्मा को हटाकर कमेटी ने सुनिश्चित किया कि पिंजरे का तोता उड़ न जाए और उन्हें डर था कि पिंजरे का तोता सत्ता के गलियारों में हो रही गतिविधियों की पोल न खोल दे. इस वजह से पिंजरे का तोता पिंजड़े में ही रहेगा.’ बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के दो दिन बाद गुरुवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली एक हाई पावर सेलेक्शन कमेटी ने आलोक वर्मा ( Alok verma fired) को सीबीआई चीफ के पद से हटा दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *