ताज़ातरीन

बीजेपी शासन काल में हुआ करोड़ों के घोटाले, कैग की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, फर्जी स्कूलों के नाम पर प्रिंसिपलों ने हड़पे करोड़ों के स्कॉलरशिप, अस्पतालों में दवा और उपकरणों समेत सुविधाओं की कमी

- विज्ञापन-

छत्तीसगढ़ के तत्कालीन सरकार बीजेपी के समय में कई विभागों में बड़े पैमाने में घोटाला होने की खबर सामने आ रही है, इस बात का खुलासा कैग की रिपोर्ट से हुई है | महालेखाकर विजय कुमार मोहंती ने प्रेस कांफ्रेंस लेकर CAG की रिपोर्ट की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश के अलग अलग सेक्टर में करोड़ों की घोटाला हुई है |

कैग की तीन अलग-अलग रिपोर्ट की जानकारी देते हुए विजय कुमार मोहंती ने बताया कि सबसे ज्यादा घोटाला सोशल सेक्टर में हुआ है | इसके साथ ही उन्होंने बताया कि रिपोर्ट में 21 स्कूलों कि गड़बड़ी सामने आयी है जो स्कूल वास्तव में नहीं है, और इन स्कूलों में एससी और एसटी छात्रवृति के नाम से करोड़ों की राशि निकाली गई है | वहीं इस मामले में 6 सरकारी, 13 निजी स्कूलों के प्राचार्य, एक सहायक आयुक्त पर FIR हुई है। ये उन स्कूलों के लिए अनुदान ले रहे थे, जो हैं ही नहीं। ये घोटाला करीब 1 करोड़ 40 लाख का था।

रिपोर्ट में राज्य में अस्पतालों की कमी और डॉक्टरों की कमी बताया गया है | इसके साथ ही 40 से 76 फीसदी और 75 फीसदी उपकरणों की कमी बताया गया है | इसी तरह CHC की 24 फीसदी कमी है। इसके साथ ही कैग की रिपोर्ट में जो बड़ा खुलासा सामने आई वो ये है की प्रदेश में 186 अस्पताल जो बनने वाले थे, 5 साल में नहीं बन पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *