न्यूज़ ब्रेकिंग न्यूज़

संसदीय सचिव मामले में विधानसभा में पक्ष-विपक्ष में जमकर तकरार, भाजपा ने किया सदन वाकआउट, भूपेश ने कहा- नहीं चलेगा ये फार्मूला, रमन ने कहा- सरकार में नहीं है तालमेल

- विज्ञापन-

छत्तीसगढ़ विधानसभा के शीतकालीन सत्र में आज मंगलवार को अनूपुरक बजट पेश करने के दौरान संसदीय सचिव मामले में विपक्ष ने जमकर हंगामा मचाया, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कांग्रेस सरकार को कटघरे में लेते हुए कहा कि संसदीय सचिव के मुद्दे पर कोर्ट पहुचने वाली कांग्रेस के मंत्री संसदीय सचिव बनाने की बात कर रहे हैं, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब हमने संसदीय सचिव नियुक्त किए थे, तो कांग्रेस ने विरोध किया था | इस सरकार में कोई आपसी तालमेल नहीं है, एक मंत्री कुछ और कहता है और एक कुछ और |

रमन सिंह के सवालों का पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि हमे पता है सरकार कैसे चलानी है, हमें पता है आपने 15 साल तक सिर्फ लड़वाने का ही काम किया है, अब ये फार्मूला नहीं चलेगा | वही केबिनेट मंत्री मो.अकबर ने सवाल का जवाब देते हुए कहा कि संसदीय सचिव केवल हाईकोर्ट के आदेश और निर्णय के अनुरूप कार्य करेंगे ऐसा हमने कहा है |

कल्लूरी के नियुक्ति मामले पलटवार करते हुए गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि मैंने कही पर नहीं कहा कि ट्रांसफर की मुझे जानकारी है। सामान्य प्रशासन विभाग मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है। मुझको कहीं सफाई देने की जरूरत नहीं है।

वही सदन में संस्कृति मंत्री ताम्रध्वज साहू द्वारा विशेषाधिकार हनन किए जाने का आरोप लगाते हुए उस पर चर्चा करने की मांग की इस पर विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महंत ने कहा कि अभी इस मामले में चर्चा का समाय तय नहीं किया गया है | इस पर भाजपा विधायकों ने सदन से वाकआउट कर दिया।

बता दें कि सोमवार को वन मंत्री मो.अकबर ने मीडिया से चर्चा करते हुए काह था कि भूपेश सरकार जल्द ही संसदीय सचिव की नियुक्त करेगी | इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि संसदीय सचिव हाईकोर्ट के आदेश और निर्णय के अनुरूप कार्य करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *