पॉलिटिकल कैफे हल्लाबोल

अमर अग्रवाल के खिलाफ बगावत पर उतरे भाजपाई, पहली बार तीन भाजपा नेताओं ने बिलासपुर सीट से ठोकी दावेदारी, तेज़ हुई सियासी हलचल

- विज्ञापन-

जिस गुटबाजी और भितरघात के चलते पिछले डेढ़ दशक से कांग्रेस राज्य सत्ता से दूर है, वह गुटबाजी अब सत्तारूढ भाजपा में भी दिखाई देने लगी है । वर्षों से सत्तासुख भोग रहे जो नेता नये लोगों को पैर पसारने का मौका ही नहीं दे रहे, ऐसे नेताओं के खिलाफ भाजपा में ही बगावत की बिगुल फूंक दिया गया है |
बिलासपुर से लगातार चार बार जीत का परचम लहराने वाले मंत्री अमर अग्रवाल के खिलाफ एक के बाद एक तीन भाजपाइयों ने बगावत का झंडा खड़ा कर दिया है | पहली बार मंत्री के खिलाफ भाजपा में दावेदारी को लेकर खलबली मची हुई है |

बिलासपुर विधायक अमर अग्रवाल

बिलासपुर से इस बार तीन नेताओं ने मंत्री की टिकट को लेकर बगावत तेवर दिखा रहे हैं, भाजपा महिला मोर्चे की मंडल उपाध्यक्ष, बेटी बचाओ आंदोलन की प्रमुख किरण सिंह, पेंड्रा के वरिष्ठ भाजपा नेता पूरन छाबरिया और शिक्षाविद मनीष राय ने बिलासपुर सीट से दावेदारी ठोकी है | बिलासपुर सीट पर पहली बार भाजपा में खुलकर बगावती तेवर देखने को मिल रही है |

महिला मोर्चे की मंडल उपाध्यक्ष, बेटी बचाओ आंदोलन की प्रमुख किरण सिंह

तीनों नेताओं का माने तो मौजूदा विधायक और मंत्री के कार्यकाल से शहर की जनता संतुष्ट नहीं है, इतने लम्बे समय से शहर की जनता ने मंत्री पर भरोषा जताया है, इसके बाद भी जनता को निराशा हाथ लगा है, इस बार मंत्री को लेकर जनता में आक्रोश भी है, ऐसे में जब पार्टी ने उन्हें पार्टी ने इतना मौका दिया है अब हमें मौका दिया जाए । महिला मोर्चा की मंडल उपाध्यक्ष व बेटी बचाओ अभियान किरण सिंह का मानना है कि इस बार महिला को बिलासपुर सीट से मौका मिलना चाहिए |

भाजपा नेता व् शिक्षाविद मनीष राय

यह मंत्री अमर अग्रवाल के 20 साल के कार्यकाल में पहली बार होगा, जब उन्हें अपनी ही पार्टी में खुले विरोध का सामना करना पड़ रहा है । पार्टी अमर अग्रवाल को टिकट देती है तो मंत्री को इस बार बगावत का दंश झेलना पड़ सकता है | ऐसे में पार्टी में इस बार चुनाव के दौरान भितरघात की संभावना भी देखने को मिल रही है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *