द बाबूस न्यूज़द ब्यूरोक्रेट्सबाबूस ऑफ़ छत्तीसगढ़
Trending

ED Raid Breaking : IAS सहित तीनों कोर्ट में पेश, मांगी ट्रांजिट रिमांड; समीर की पत्नी CM से मिलीं

छत्तीसगढ़ में चल रही ईडी की कार्रवाई के बीच आईएएस अफसर और चिप्स (छत्तीसगढ़ इंफोटेक प्रमोशन सोसायटी) के सीईओ समीर विश्वनोई सहित तीन कोयला व्यापारियों को गिरफ्तार किया गया है। इन सभी का मेकाहारा में मेडिकल कराने के बाद ईडी ने रायपुर की विशेष कोर्ट में पेश किया है। जहां मामले की सुनवाई जारी है। ईडी ने तीनों की एक सप्ताह की ट्रांजिट रिमांड मांगी है। रिमांड मिलने के बाद तीनों को दिल्ली ले जाया जाएगा। वहीं समीर विश्नोई की पत्नी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिलीं और ईडी पर गैरकानूनी ढंग से काम करने का आरोप लगाया है। 

Advertisement

कोयला व्यापारी सूर्यकांत तिवारी फरार
ईडी ने तीनों को पूछताछ के लिए बुधवार को बुलाया था। कोयला व्यापारियों में सूर्यकांत तिवारी के चाचा लक्ष्मीकांत तिवारी और सुनील अग्रवाल शामिल हैं। वहीं सूर्यकातं तिवारी फरार बताया जा रहा है। तीनों को गिरफ्तारी मनी लॉन्ड्रिंग केस में की गई है। इस बीच रायगढ़ कलेक्टर रानू साहू लौट आई हैं। ईडी उनसे और उनके पति व माइनिंग डायरेक्टर जेपी मौर्या से पूछताछ कर रही है।



आईएएस जेपी मौर्य सहित अन्य ये कल से हो रही थी पूछताछ
प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने रायपुर के सयाजी होटल में अपना कैंप ऑफिस बना रखा है। यहीं पर अफसरों से पूछताछ की जा रही है। प्रदेश के अलग-अलग जिलों में चल रही कार्रवाई के बीच माइनिंग डायरेक्टर जेपी मौर्य और चिप्स (छत्तीसगढ़ इंफोटेक प्रमोशन सोसायटी) के सीईओ समीर विश्नोई और उनकी पत्नी से कल से ही ईडी पूछताछ कर रही ही थी। दोनों अफसरों को बुधवार शाम को ही कैंप ऑफिस बुलाया गया था। अब रायगढ़ कलेक्टर को भी इस पूछताछ में शामिल कर लिया गया है। यह भी बताया जा रहा है कि रानू साहू की मौजूदगी में आज कलेक्टर बंगले की जांच की जाएगी।

सूर्यकांत ने लगाया था तख्तापलट की साजिश का आरोप

दरअसल, करीब तीन माह पहले जुलाई में इनकम टैक्स की टीम ने कोयला खनन से जुड़े व्यापारियों के यहां छत्तीसगढ़ के कई जिलों में छापे मारे थे। इनमें कोल व्यापारी सूर्यकांत तिवारी भी शामिल हैं। उनके रायपुर और महासमुंद स्थित मकानों पर कार्रवाई की गई थी। कोरबा के भी कुछ कारोबारियों के ठिकानों पर रेड हुई। इसके बाद सूर्यकांत ने दावा किया था कि इनकम टैक्स अफसर बार-बार उन पर दबाव बना रहे थे कि वह सीएम हाउस से जुड़े अधिकारी का नाम लें तो वह “छत्तीसगढ़ के एकनाथ शिंदे” बन सकते हैं। यानि छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close