पॉलिटिकल कैफेपॉलिटिकल पंच

ब्रेकिंग : 4 नए अनुविभाग एवं 23 नई तहसीलों का शुभारंभ…. न्याय योजना की चौथी क़िस्त जारी, मुख्यमंत्री बोले – पूरे देश की अर्थव्यवस्था ठप हो गया, तब भी छत्तीसगढ़ के बाजारों में रौनक

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि लॉकडाउन के समय पूरे देश की अर्थव्यवस्था और काम-धंधा ठप हो गया था, लेकिन छत्तीसगढ़ के बाजार की रौनक बनी रही। हमारी अर्थव्यवस्था लगातार गतिशील रही। हमारी सरकार ने अपने गांवों और शहरों के विकास के लिए जो रणनीति अपनाई है, आज उसे पूरे देश में विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल के रूप में जाना जाता है।

Advertisement

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज किसानों, पशुपालकों, महिला समूहों, तेंदूपत्ता संग्राहक और ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों के बैंक खाते में अंतरित किया 1125 करोड़ रूपए अन्तरित किये हैं । राजीव गांधी किसान न्याय योजना की चौथी किश्त के रूप में राज्य के 20.58 लाख किसानों को मिले 1029.31 करोड़ रूपए  मिले। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर राज्य सरकार ने किसानों को उनकी फसल उपज का उचित मूल्य देने, फसल उत्पादकता में वृद्धि एवं फसल विविधीकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य राजीव गांधी किसान न्याय योजना के जरिए किसानों को  आदान सहायता राशि दी जा रही है। इस योजना में राज्य सरकार किसानों के खातों में बीते दो वर्षों में 11 हजार 180 करोड़ 97 लाख रुपये का भुगतान कर चुकी है। 

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के अंतर्गत 71.08 करोड़ रूपए की दूसरी किस्त मुख्यमंत्री ने जारी की। पशुपालकों, महिला समूहों और गोठान समितियों को 13.62 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है । 728 तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों को मिले 10.91 करोड़ रूपए की बीमा राशि मिली । मुख्यमंत्री ने गोधन न्याय योजना के तहत गोबर विक्रेताओं, गौठान समितियों और महिला समूहों को 13.62 करोड़ रुपये का भुगतान किया। गोधन न्याय योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा पशुपालकों, स्व-सहायता समूहों एवं गौठान समितियों को अब तक 226.18 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है।मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना का विस्तार नगर निगमों के बाद अब नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों तक किया जा रहा है। इसके तहत मुख्यमंत्री श्री बघेल ने 60 नवीन मोबाइल मेडिकल यूनिट का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश में चार नये अनुभाग और 23 नई तहसीलों का शुभारंभ किया-

चार नये अनुभाग-

जगदलपुर जिले में तोकापाल,

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में मरवाही,

सूरजपुर जिले में भैयाथान,

गरियाबंद जिले में मैनपुर को नया अनुविभाग बनाया गया है।

नयी तहसीलें

बिलासपुर जिले में सीपत और बोदरी,

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में सकोला (कोटमी),

जांजगीर-चांपा जिले में अड़भार,

रायगढ़ जिले में सरिया और छाल,

कोरबा जिले में बरपाली, अजगरबहार और पसान,

बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में चांदो, रघुनाथनगर और डोरा-कोचली,

सूरजपुर जिले में बिहारपुर

बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में सुहेला और भटगांव,

दुर्ग जिले में अहिवारा,

बेमेतरा जिले में नांदघाट,

उत्तर बस्तर कांकेर जिले में सरोना,

दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा जिले में बारसूर,

बीजापुर जिले में कुटरू और गंगालूर,

नारायणपुर जिले में छोटे डोंगर और कोहकामेटा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close