ताज़ातरीन न्यूज़

बिग ब्रेकिंग : सरकार का इकोनॉमी बूस्टर डोज, किसान-मजदूर-महिलाओं को पैकेज का ऐलान….गरीब महिलाओं को तीन माह मुफ्त सिलेंडर, स्वास्थ्य कर्मचारियों को 50 लाख रुपये का इंश्योरेंस….पढ़िए सरकार के 10 बड़े ऐलान

कोरोना वायरस की वजह से देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है. इस लॉकडाउन की वजह से देश की इकोनॉमी को बड़ा नुकसान होने की आशंका जाहिर की जा रही है. इस बीच, सरकार की ओर से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़ी राहत दी है. उन्होंने बताया कि गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को 1.70 लाख करोड़ की मदद की जाएगी. निर्मला सीतारमण की ओर से किए गए ऐलान का फायदा गरीब वर्ग, मजदूर वर्ग, महिला वर्ग के अलावा दिव्यांग, विधवा और बुजुर्ग वर्ग को मिलने की उम्मीद है |

– विज्ञापन –

वित्त मंत्री ने लॉकडाउन के बीच गुरुवार को काफी बड़े एलान किए
– प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ लोग आते हैं। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि एक भी व्यक्ति बिना भोजन के न रहे। हर व्यक्ति को तीन महीने तक मुफ्त में पांच किलो चावल और गेहूं दिया जाएगा। इसके अलावा एक किलो दाल भी दी जाएगी।
– कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने वाले चिकित्सा के क्षेत्र से जुड़े लोगों को 50 लाख का जीवन बीमा दिया जाएगा।
– वित्त मंत्री ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत किया 1,70,000 करोड़ रुपये के पैकेज का एलान किया।
– वित्त मंत्री ने किसानों, मनरेगा मजदूर, गरीब विधवा, गरीब दिव्यांग और गरीब पेंशनधारक, जनधन योजना, उज्जवला के लाभार्थी, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, संगठित क्षेत्र के कर्मचारी और निर्माण में काम कर रहे लोगों के लिए एलान किया।
– बुजुर्गों, दिव्यांगों और विधवाओं को तीन महीने तक एक हजार रुपये अतिरिक्त मिलेंगे। यह राशि दो किस्तों में दी जाएगी। इसका फायदा तीन करोड़ लोगों को मिलेगा।
– सरकार ने मनरेगा के तहत काम करने वाले मजदूरों की दिहाड़ी 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये कर दी है।
– उज्ज्वला योजना के तहत आठ करोड़ महिला लाभार्थियों को तीन महीने तक मुफ्त सिलेंडर दिए जाएंगे।
– महिला जनधन खाताधारकों को तीन महीने तक 500 रुपये प्रति महीने की राशि दी जाएगी। इसका 20 करोड़ महिलाओं को लाभ मिलेगा।
– दीनदयाल योजना के तहत महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को 20 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाएगा। पहले यह राशि 10 लाख रुपये थी।
– संगठित क्षेत्र के लिए एलान करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ईपीएफ में अगले तीन महीने तक 12+12 प्रतिशत योगदान देगी। यह लाभ वहां लागू होगा जहां 100 से कम कर्मचारी हैं और 90 प्रतिशत कर्मचारियों को 15 हजार से कम वेतन मिलता है।
– सरकार ईपीएफ के नियमों में बदलाव कर रही है। जिससे कोई भी कर्मचारी पीएफ अकाउंट से या तीन महीने की सैलरी से 75 प्रतिशत की धनराशि एडवांस ले सकेगा।

- विज्ञापन-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *