न्यूज़ ब्रेकिंग न्यूज़

ब्रेकिंग : पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह समेत कई नेताओं की सुरक्षा में हुई कटौती, जानिए क्या होती है X, Y, Z और Z+ सुरक्षा

केंद्र सरकार के सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी के सुरक्षा में कटौती के बाद अब राज्य में पूर्व सीएम रमन सिंह समेत कई लोगों की सुरक्षा में कटौती की खबर निकलकर सामंने आ रही है | रमन सिंह को जेड प्लस सुरक्षा हटाकर जेड श्रेणी की सुरक्षा दी गई है । इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही पूर्व सीएम के परिवार के अन्य सदस्यों की सुरक्षा में भी कटौती की गई है । पूर्व सांसद अभिषेक सिंह, रमन सिंह की बहू ऐश्वर्या सिंह, बेटी अस्मिता गुप्ता और पत्नी वीणा सिंह की सुरक्षा में कटौती की गई है । इसके साथ ही अमित जोगी की भी सुरक्षा में कटौती की गई है । इसके साथ ही कुछ लोगों की सुरक्षा में बढ़ोतरी भी की गई है । चित्रकोट से कांग्रेस विधायक रामजन बेंजाम को जेड श्रेणी की सुरक्षा दी गई है ।

– विज्ञापन –

 

जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा
स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप की सुरक्षा के बाद जेड प्लस भारत की सर्वोच्च सुरक्षा श्रेणी है। इस श्रेणी में संबंधित विशिष्ट व्यक्ति की सुरक्षा में 36 जवान लगे होते हैं। इसमें 10 से ज्यादा एनएसजी कमांडो के साथ दिल्ली पुलिस, आईटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो और राज्य के पुलिसकर्मी शामिल होते हैं। हर कमांडो मार्शल आर्ट और निहत्थे युद्ध करने की कला में माहिर होता है। सुरक्षा में लगे एनएसजी कमांडो के पास एमपी 5 मशीनगन के साथ आधुनिक संचार उपकरण भी होता है। इसके अलावा इनके काफिले में एक जैमर गाड़ी भी होती है जो मोबाइल सिग्नल जाम करने का काम करती है। देश में चुनिंदा लोगों को ही जेड प्लस की सुरक्षा प्राप्त है।

- विज्ञापन-

जेड श्रेणी की सुरक्षा
जेड श्रेणी की सुरक्षा में चार से पांच एनएसजी कमांडो सहित कुल 22 सुरक्षागार्ड तैनात होते हैं। इसमें दिल्ली पुलिस, आईटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो व स्थानीय पुलिसकर्मी भी शामिल होते हैं।

वाई श्रेणी की सुरक्षा
यह सुरक्षा का तीसरा स्तर होता है। कम खतरे वाले लोगों को यह सुरक्षा दी जाती है। इसमें कुल 11 सुरक्षाकर्मी शामिल होते हैं। जिसमें दो पीएसओ (निजी सुरक्षागार्ड) भी होते हैं। इस श्रेणी में कोई कमांडो नहीं तैनात होता है। देश में सबसे ज्यादा लोगों को वाई श्रेणी की सुरक्ष दी गई है।

एक्स श्रेणी की सुरक्षा
इस श्रेणी में दो सुरक्षा गार्ड तैनात होते हैं। जिसमें एक पीएसओ (व्यक्तिगत सुरक्षा अधिकारी) होता है। देश में काफी लोगों को एक्स श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *