द बाबूस न्यूज़ द ब्यूरोक्रेट्स

2007 बैच के IRS के खिलाफ CBI ने दर्ज किया केस….12 साल पहले 2007 में फर्जी डॉक्यूमेंट्स जमा कर बना था IRS अफसर, अब खुला डॉक्यूमेंट्स का राज

फर्जी डॉक्यूमेंट्स जमा कर नौकरी पाने और पोल खुलने पर बर्खास्त होने के मामले कई सरकारी डिपार्टमेंट्स में सामने आए. अब यूपीएससी की परीक्षा में बैठने के लिये जमा किए डॉक्यूमेंट्स में भी फर्जीवाड़ा सामने आया है. साल 2007 में यूपीएससी एग्जाम देने के लिए एक आईआरएस अधिकारी ने खुद से पांच साल छोटे व्यक्ति के डॉक्यूमेंट्स का इस्तेमाल किया |

– विज्ञापन –

सीबीआई ने आईआरएस नवनीत कुमार के खिलाफ वर्ष 2007 में यूपीएससी की परीक्षा में बैठने के लिये खुद से पांच साल जूनियर व्यक्ति की पहचान का इस्तेमाल करने के आरोप में मामला दर्ज किया है । अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जांच एजेंसी ने 2007 बैच के सीमाशुल्क एवं केंद्रीय उत्पाद शुल्क के आईआरएस अधिकारी के खिलाफ संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की परीक्षा ( UPSC Civil Services Exam ) पास करने के लिये फर्जी जन्मतिथि एवं शैक्षणिक प्रमाणपत्र जमा करने के आरोप में मामला दर्ज किया है।

- विज्ञापन-

उन्होंने कहा कि ऐसी आशंका है कि कुमार का नाम राजेश कुमार शर्मा है, लेकिन 2007 में अधिक उम्र होने के कारण वह परीक्षा में शामिल होने का पात्र नहीं था इसलिए उसने सिविल सेवा परीक्षा पास करने के लिये नवनीत कुमार नाम का इस्तेमाल किया ।

ये मामला 2007 बैच के सीमाशुल्क एवं केंद्रीय उत्पाद शुल्क के आईआरएस अधिकारी के खिलाफ दर्ज किया है. इसमें कैंडीडेट ने फर्जी जन्मतिथि और शैक्षणिक प्रमाणपत्र जमा किए थे. कैंडीडेट ने नवनीत कुमार नाम का इस्तेमाल किया था, जबकि जांच एजेंसी को शक है कि कुमार का नाम राजेश कुमार शर्मा है |

मुताबिक जांच एजेंसी के मुताबिक, 15 जून, 1980 को जन्मे नवनीत ने 1996 में हाई स्कूल उत्तीर्ण किया. 2003 में उसने इंटरमीडिएट और 2008 में स्नातक (ग्रेजुएशन) किया. बिहार के पश्चिमी चंपारण के इस आईआरएस ऑफिसर को बचपन के दिनों में किसी और नाम से जाना जाता था |

शर्मा ने 1991 में 10वीं जबकि 1993 में बेतिया से सीबीएसई बोर्ड से 12वीं की परीक्षा पास की. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने का कहना है कि जब राजेश शर्मा की यूपीएससी परीक्षा के लिये उम्र सीमा अधिक हो गई तो उसने अपनी पहचान बदलकर नवनीत कुमार के नाम पर प्रमाण पत्र हासिल किया, इसमें पिता एवं घर का पता वही रखा |

राजेश कुमार शर्मा ने अपनाई नवनीत कुमार की पहचान
उन्होंने बताया कि बेतिया के उप निर्वाचन अधिकारी की ओर से जारी प्रमाणपत्रों एवं ग्राम प्रमुख तथा पूर्व ग्राम प्रमुख एवं अन्य ग्रामीणों के बयानों से से यह पता चला कि राजेश कुमार शर्मा ने नवनीत कुमार की पहचान अपनाई थी |

परीक्षा बोर्ड बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने भी कुमार के बारे में आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराने में सीबीआई को सहयोग नहीं किया, सीबीआई के मामला दर्ज करने से अब उसकी नौकरी खतरे में पड़ गई है, आरोपी IRS अधिकारी नवनीत कुमार वर्तमान में कोलकाता में CGST विभाग में कार्यरत हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *