द बाबूस न्यूज़ द ब्यूरोक्रेट्स

इस IAS अफसर के खिलाफ पत्नी की हत्या का मामला दर्ज, ससुरालवालों ने लगाए गंभीर आरोप….अब IAS अफसर साले पर करेंगे मानहानि का केस

लखनऊ में आईएएस अफसर उमेश सिंह के खिलाफ पत्नी की हत्या का मामला दर्ज किया गया है । उनकी पत्नी अनीता सिंह के चचेरे भाई की तहरीर पर चिनहट कोतवाली में उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। अनीता के चचेरे भाई राजीव सिंह ने अपनी बहन के साथ मारपीट करने के साथ ही आरोपी उमेश सिंह के कई महिलाओं से संबंध होने के आरोप लगाए हैं। राजीव ने कहा है कि इस घटना के दो घंटे बाद पुलिस को इसकी सूचना देना ही मामले को काफी संदिग्ध बना रहा है ।

– विज्ञापन –

सहायक पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव के अनुसार,  “मृतका के चचेरे भाई द्वारा धारा 302 का मुकदमा दर्ज कराया गया है । मामले में पोस्टमार्टम और फोरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद ही अब स्थितियां साफ होंगी ।
ज्ञात हो कि लखनऊ के चिनहट कोतवाली क्षेत्र में विकल्पखंड, गोमतीनगर में सूडा के निदेशक उमेश प्रताप सिंह की पत्नी अनीता की रविवार एक सितंबर को घर में संदिग्ध हालत में गोली लगने से मौत हो गई । गोली उनके सीने से आर-पार हो गई थी । घरवाले मौत को आत्महत्या बता रहे हैं । उस वक्त घर में उमेश प्रताप सिंह, बेटा आशुतोष सिंह, नौकर तुलसीराम और विकास नीचे के फ्लोर पर थे। आशुतोष का एक दोस्त भी घर पर मौजूद था ।

- विज्ञापन-

हत्या और साक्ष्य छिपाने के मामले में दर्ज हुई है एफआईआर
उधर लखनऊ में एसपी नॉर्थ सुकीर्ति माधव ने बताया कि मृतक के चचेरे भाई की तहरीर पर आईएएस के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है, हत्या और साक्ष्य छिपाने के मामले में ये एफआईआर दर्ज की गई है, मौका-ए-वारदात से एफएसएल ने कई नमूने लिए थे. एफएसएल की जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है, पुलिस मामले की विवेचना में जुटी है |

 

बेटे का ये है कहना


आईएएस अफसर के बेटे आशुतोष ने बताया कि गोली चलने की आवाज पर वो फ़र्स्ट फ्लोर पर स्थित अपनी मां के कमरे की तरफ भागे, वहां उसने अपने पिता को कमरे का दरवाजा तोड़ते हुए देखा, इसके बाद खून से लथपथ मां को फौरन एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया, ट्रॉमा सेंटर में डॉक्टरों ने अनीता को मृत घोषित कर दिया गया, परिवारजनों ने करीब चार बजे पुलिस को सूचना दी |

आईएएस ने कहा- पत्नी दो साल से थीं अवसादग्रस्त

वहीं आईएएस अफसर उमेश प्रताप सिंह ने बताया कि अनीता पिछले दो साल से अवसादग्रस्त थीं और उनका इलाज चल रहा था. मौके से पुलिस को मानसिक उपचार की दवाएं, आईएएस अफसर की लाइसेंसी पिस्टल और एक खोखा बरामद हुआ है. पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. पुलिस के मुताबिक अनीता ने दो बजकर 22 मिनट पर अपने पति को व्हाट्सएप मैसेज भेजा था. जिसमें उन्होंने लिखा था, सॉरी फॉर आल. यह मैसेज उन्होंने क्यों और किस संदर्भ में भेजा इसकी भी जांच की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *