ताज़ातरीन न्यूज़

यात्रा के दौरान अधिक सामान ले जाने वाले यात्रीगण कृपया ध्यान….रेल में सिर्फ इतना ही सामान मुफ्त लेकर सफर कर सकते हैं आप

समर वेकेशन शुरू हो गई है, अगर आप भी इस वेकेशन में ट्रैन से कही सफर करने का प्लान कर रहे हो तो बैग पेकिंग करने से पहले ये बात जान ले के आप सफर के दौरान कितना वजन अपने साथ ट्रेन में ले जा सकते है, क्योकि रेल में सामान को लेकर कुछ नियम बनाई गई है उसके हिसाब से आप समान अपने साथ ले जा सकेंगे |

– विज्ञापन –

बता दें कि भारतीय रेलवे के नियमों के मुताबिक हर एक व्यक्ति को यात्रा के दौरान मुफ्त सामान ले जाने की सीमा निर्धारित है। अतिरिक्त सामान पर भारतीय रेलवे के पोर्टल के अनुसार लागू सामान दर से 1.5 गुना अधिक चार्ज लगता है।

- विज्ञापन-

रेलवे के मौजूदा नियमों के मुताबिक एसी फर्स्ट क्लास के यात्री 70 किलोग्राम, एसी 2 टीयर के यात्री 50 किलो, एसी 3 टीयर, एसी चेयरकार और स्लीपर क्लास के यात्री 40 किलोग्राम ओर सेकंड क्लास के यात्री 35 किलोग्राम तक सामान अपने साथ ले जा सकते हैं। अगर फर्स्ट क्लास के यात्री इससे 15 किलोग्राम और अन्य श्रेणियों के यात्री के पास 10 किलोग्राम अधिक सामान है तो उस स्थिति में यात्री 1.5 गुना चार्ज देकर सामान अपने साथ ले जा सकते हैं लेकिन इसके लिए उन्हें पहले ही टीटीई को जानकारी देकर इसका शुल्क चुकाना होगा। लेकिन अगर यात्री के पास इससे भी अधिक सामान है तो उसे पार्सल के जरिए बुक कराना होगा।

जिन यात्रियों के बकसे, सूटकेस, 100 cms x 60 cms x 25 cms (लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई) होगी उन्हें सामान ले जाने की अनुमति है। यदि तय किए गए माप से सामान का वजन और माप ज्यादा है तो ऐसे में ब्रेक वैन के जरिएहालांकि, ट्रंक / सूटकेस का अधिकतम आकार एसी 3 टियर और एसी चेयर कार कम्पार्टमेंट में 55 सेंटीमीटर x 45 सेंटीमीटर x 22.5 सेमी है। बड़ा सामान केवल ब्रेक वैन के माध्यम से ले जाना की अनुमति है, जिसके लिए न्यूनतम शुल्क 30 रुपये है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *